.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: बहुचर्चित मौर्य दंपति हत्याकांड के खुलासे को बच्चे भूख हड़ताल पर बैठे



डिप्टी सीएम के आश्वासन पर कुछ न हुआ,नए थाना प्रभारी ने मांगी मोहलत

अहरौला के पारा में ढाई महीने पूर्व हुई थी मौर्य दंपति की हत्या

आजमगढ़ : जनपद के अहरौला थाना क्षेत्र के पारा गांव में ढाई महीने पूर्व हुई दंपति की हत्या के मामले में पुलिस को अभी तक कोई सफलता नहीं मिल सकी है। वही घर पर जाकर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद के द्वारा दिया गया आश्वासन भी पूरा नहीं हो सका। न्याय न मिलने से क्षुब्ध मौर्य दंपति के तीनों बच्चे 1 सितंबर से कलेक्ट्रेट के सामने मेहता पार्क में भूख हड़ताल पर बैठ गए। भारी बारिश भी इन बच्चों का मनोबल नहीं तोड़ सकी। बच्चों में अपने माता पिता की हत्या के मुलजिमों की गिरफ्तारी न होने का दुख तो था ही वही डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के द्वारा दिए गए आर्थिक मदद के आश्वासन के भी पूरा ना होने का गम था। पीड़ित परिवार की मांग है कि उनके माता-पिता के हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी हो, शासन प्रशासन की तरफ से तत्काल एक करोड़ की आर्थिक मदद दी जाए, परिवार को सुरक्षा मिले और मौर्या दंपति के पुत्र शिवांश को सरकारी नौकरी दी जाए। वहीं थानाध्यक्ष अहरोला योगेंद्र बहादुर सिंह भी भूख हड़ताल स्थल पर पहुंचकर पीड़ितों को मनाने की कोशिश की और कहे कि अभी वह थाने में नए आए हैं। 05 दिन का उन्हें मौका दिया जाए। शिवांश ने बताया कि उनके माता पिता का 14 जून को अपहरण होने के बाद 16 जून को हत्या कर दी गई। तहरीर में जो नाम दिए थे उनकी गिरफ्तारी भी नहीं हुई। मात्र आधे घंटे पूछताछ के बाद उनको छोड़ दिया गया। पुलिस तमाम तरीके का सवाल उन्हीं के ही परिचितों और पिता के मित्रों से कर रही है। जिसको लेकर सवाल है कि पुलिस लापरवाही कर रही है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment