.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: सरयू नदी का जलस्तर फिर खतरे के निशान के पार


तीन स्थानों पर कटान तेज, मुख्य बांध पर जगह-जगह हुआ रेन कट

आजमगढ़: सगड़ी तहसील के उत्तरी छोर पर बहने वाली सरयू नदी का जलस्तर एक बार फिर तेजी से बढ़ने लगा है। डिघिया नाला गेज स्थल पर जलस्तर खतरा निशान से 13 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच जाने से तटवर्ती गांव के लोगाें की बेचैनी बढ़ने लगी है। यह स्थिति लखीमपुर के गिरजा बैराज से 117776, शारदा बैराज से 25352 तथा सरयू बैराज से 12818 यानी गुरुवार को कुल 155946 क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण उत्पन्न हुई है।
जलस्तर बढ़ने के साथ गांगेपुर परसिया, उर्दिहा, बगहवा में कटान तेज हो गई है। उर्दिहा गांव का शवदाह स्थल और दोनों प्रतीक्षालय पहले ही नदी की धारा में विलीन हो चुके हैं। रिंग बांध के पास कटान ने चिंता को ज्यादा बढ़ा दिया है, क्योंकि रिंग बांध को नुकसान पहुंचा, तो कई गांव जलमग्न हो जाएंगे। रिंग बांध को बचाने के लिए साल भर पहले शुरू हुआ तीन ठोकरों का निर्माण आज तक पूरा नहीं हो सका है।
देवारा क्षेत्र में बहने वाली सरयू नदी की लहरें प्रतिवर्ष तबाही मचाती हैं। पिछले वर्ष आई बाढ़ में जबरदस्त कटान से सैकड़ों एकड़ जमीन नदी की धारा में विलीन हो गई थी, तो फसलें भी बर्बाद हुई थीं। गुरुवार को नदी का जलस्तर डिघिया नाला गेज पर 70.36 था, जो शुक्रवार को 17 सेंटीमीटर बढ़कर 70.53 मीटर पर पहुंच गया। डिघिया नाले पर खतरा बिंदु 70.40 मीटर है। वहीं बदरहुआ नाला गेज स्थल पर गुरुवार को नदी का जलस्तर 70.97 मीटर था, जो शुक्रवार को 17 सेंटीमीटर वृद्धि के साथ 71.14 मीटर पर पहुंच गया। बदरहुआ नाले पर खतरा बिंदु 71.68 मीटर है। महुला-गढ़वल मुख्य बांध तक तो अभी पानी नहीं पहुंच सका है, लेकिन वर्षा के कारण बंधे पर जगह-जगह रेन कट हो गया है। रेन कट इतना गहरा व चौड़ा है कि कभी भी हादसे का कारण बन सकता है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment