.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: विश्व पेंचक सिलाट चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल तक पंहुच बढ़ाया देश का मान


80-85 किलो भारवर्ग में क्वार्टर फाइनल तक पहुचने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने सूरज प्रकाश

आज़मगढ़: पेंचक सिलाट मार्शल आर्ट्स के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सूरज प्रकाश श्रीवास्तव ने भारतीय टीम की तरफ से मलेशिया में 26 से 1 अगस्त,2022 तक आयोजित 19वीं विश्व पेंचक सिलाट चैंपियनशिप में देश की तरफ से 80-85 किलो भार वर्ग में खेलते हुए प्री-क्वार्टरफाइनल मुकाबले में उज्बेकिस्तान के खिलाड़ी को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर इतिहास रचा, इस भार वर्ग में क्वार्टरफाइनल तक पहुचने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने।
क्वार्टरफाइनल मुकाबले में थाईलैंड के खिलाड़ी से कड़े मुकाबले में कुछ अंकों के अंतर से इन्हें हार का सामना करना पड़ा।
इस विश्व चैंपियनशिप में लगभग 59 देशों के खिलाड़ियों ने प्रतिभाग किया था।
सूरज प्रकाश श्रीवास्तव ने फ़ोन पर हुई वार्ता में कहा कि विश्व चैंपियनशिप किसी भी खेल की वैश्विक स्तर पर सबसे बड़ी चैंपियनशिप होती है ,यहां तक प्रतिभाग करना हर खिलाड़ी का सपना होता है, मुझे इंडियन पेंचक सिलाट फेडरेशन के पदाधिकारियों व टीम के चयनकर्ताओं ने इस चैंपियनशिप में प्रतिभाग करने का अवसर दिया इसके लिए बहुत आभारी हूँ,आज़मगढ़ जैसे शहर में बिना किसी अत्याधुनिक सुविधाओं के कठिन परिश्रम से मैंने तैयारी किया था तथा 21 दिन का भारतीय टीम के श्रीनगर में लगे कैम्प में भी प्रशिक्षण लिया था, मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने की पूरी कोशिश किया लेकिन कुछ तकनीकी अंकों से मुझे क्वार्टरफाइनल में हार का सामना करना पड़ा, मेरे लिए हर गर्व का विषय है कि इस भार वर्ग में विश्व चैंपियनशिप में क्वार्टरफाइनल तक पहुँचने वाला मैं पहला भारतीय खिलाड़ी हूँ। पुनः अवसर मिला तो पूरी तैयारी कर प्रतिभाग करेंगे व स्वर्ण पदक से नही चूकेंगे। मैं इंडियन पेंचक सिलाट फेडरेशन के सीईओ व मुख्य कोच मोहम्मद इक़बाल,गुरु जसपाल सिंह कार्यकारी अध्यक्ष पेंचक सिलाट खेल संघ उत्तर प्रदेश व पिताजी- माताजी का विशेष रूप से आभारी हूँ।
पूरे देश से कुल 36 खिलाड़ी विभिन्न भार वर्गों में इस चैंपियनशिप के लिए चयनित हुए थे, इसमें कई खिलाड़ी सीमा सुरक्षा बल,राजस्थान पुलिस व जम्मू कश्मीर पुलिस के भी भारतीय टीम में शामिल थे। टीम कोच के रूप में इंडियन पेंचक सिलाट फेडरेशन के डायरेक्टर जनरल मोहम्मद इक़बाल,टीम मैनेजर इरफ़ान अजीज बुट्टा, महासचिव मुफ्ती हामिद यासीन,हेमा मिश्रा शामिल थे।
ज्ञात हो कि सूरज प्रकाश श्रीवास्तव ने वर्ष 2019 में आयोजित विश्व पेंचक सिलाट चैंपियनशिप ,थाईलैंड में देश के लिए कांस्य पदक जीता था तथा
गतवर्ष राष्ट्रीय पेंचक सिलाट चैंपियनशिप व फेडरेशन कप दोनो में में स्वर्ण पदक तथा इस वर्ष राष्ट्रीय पेंचक सिलाट चैंपियनशिप में कांस्य पदक व राष्ट्रीय फेडरेशन कप में रजत जीतकर जनपद व प्रदेश का मान-सम्मान बढ़ा चुके हैं इसी मेरिट के आधार पर इनका चयन पुनः भारतीय टीम में हुआ था।
सूरज प्रकाश श्रीवास्तव मूल रूप से तहबरपुर ब्लॉक के बीबीपुर कदीम गाँव के रहने वाले हैं तथा वर्तमान में कृष्णा नगर कॉलोनी ,जमालपुर बाजबहादुर में निवास करते हैं,इनके पिता सतीश चंद श्रीवास्तव कलेक्ट्रेट में अधिवक्ता हैं।
सूरज 12 वर्ष की आयु से ही मार्शल आर्ट्स का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहें थे।
इनकी इस उपलब्धि पर माता कुसुमलता श्रीवास्तवा,बहन संध्या श्रीवास्तवा , असिस्टेंट कमांडेंट रविकांत श्रीवास्तव , डॉ सुनील चंद्र श्रीवास्तव ने खुशी जाहिर किया है तथा पेंचक सिलाट खेल संघ आज़मगढ़ के अध्यक्ष व भाजपा क्षेत्रीय महामंत्री सहजानन्द राय ,भाजपा जिलाध्यक्ष लालगंज ऋषिकांत राय , उपाध्यक्ष परितोष राय, नितिन गौड़, संदीप सिंह सोनू, विद्याधर श्रीवास्तव, राजीव प्रताप सिंह गप्पू, ज्ञानेन्द्र चौहान, शिवम तिवारी, शुभम पांडेय,दिनेश चौहान, गनेश कुमार गोंड, अभिषेक यादव,शुभम तिवारी,गणेश गोंड,संदीप भारद्वाज,गुलशन राजभर सहित दर्जनों खेल प्रशंसकों ने खुशी जाहिर कर इनके उज्ज्वल भविष्य कामना की है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment