.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: वैश्य समाज को नन्दी ने एकसूत्र में पिरोया -  दीनू जायसवाल




नन्द गोपाल गुप्ता नंदी के पुनर्प्राप्त जन्म दिवस पर श्रृंगार, व विशाल भंडारे का हुआ आयोजन

आजमगढ़: वैश्य समाज एवं व्यापारी वर्ग के नेता व प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी के पुनर्प्राप्त जन्म दिवस पर पुरानी कोतवाली स्थित शिव मंदिर परिसर में समाजसेवी अभिषेक जायसवाल दीनू के संयोजकतत्व में मंगलवार को विहंगम श्रृंगार एवं शाम को विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। भंडारा चार बजे शुरू हुआ तो देररात्रि तक लोगों का हुजूम उमड़ता रहा। इसके पूर्व सूर्य कुमार सिंह उद्यान स्थित शिव मंदिर का भव्य श्रृंगार कराकर वैश्य समाज के अभिभावक नन्द गोपाल गुप्ता नंदी के सुदीर्घ, निरापद और निरोगी जीवन की कामना के लिए दीनू जायसवाल के नेतृत्व में ईश्वर से प्रार्थना किया गया।
इस मौके पर प्रमुख समाजसेवी अभिषेक जायसवाल दीनू ने कहाकि कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी वैश्य, स्वर्णकार समाज के अभिभावक के साथ-साथ शोषित, वंचितों के मसीहा हैं। आयोजन के माध्यम से हम कामना करते है कि हमारे अभिभावक का जीवन सदा महकता रहे, व बने रहे । उन्होंने वैश्यों को एकसूत्र में पिरोने का काम किया है और हमें राजनीति में भागीदारी करने का साहस प्रदान किया। ऐसे अभिभावक के ऊपर 12 वर्ष पूर्व जब 12 जुलाई को रिमोट कंट्रोल आरडीएक्स बम से हमला हुआ था। जिसमे उनके सुरक्षाकर्मी व एक पत्रकार की मौत हो गई थे, जबकि नंदी गंभीर रूप से जख्मी हुए थे। कई महीने इलाज के बाद वे स्वस्थ हुए, तभी से यह दिन उनके जीवन में अहम बन गया। प्रमुख समाजसेवी अभिषेक जायसवाल दीनू ने आगे कहाकि वैश्य समाज को वैश्य नेता ही आगे बढ़ा सकता है क्योंकि वह वैश्यों की समस्याओं से भलीभांति परिचित होता है, उन्होंने कहाकि यह वैश्यों के संकल्प का दिवस है, इस दिन वैश्य समाज को संगठित होकर समाज को नई दिशा देने का काम करना चाहिए। श्री दीनू ने कहाकि इस बार विशाल भंडारा आयोजित किया गया है अगली बार भंडारे के साथ साथ बड़े पैमाने पर रक्तदान शिविर आयोजित कराया जाएगा, यह रक्तकोष समाज के लोगों को समर्पित होगा।
आशीष गोयल ने कहाकि नन्दी का जीवन आत्मसात करना चाहिए, उन्होंने वैश्य समाज के दुख-सुख को अपना समझा है। ऐसे विशेष व्यक्तित्व वाले नन्दी जी की समाज को आवश्यकता है। समाजसेवी अभिषेक जायसवाल दीनू समाज के सजग प्रहरी है उन्होंने वैश्यों को एकसूत्र में बांधने का काम किया है, इस आयोजन के लिए वे बधाई के पात्र है।
इस मौके पर अशोक अग्रवाल, संदीप सिंह स्वर्णकार, श्रीनाथ सेठ, शर्मानुज सेठ, राजू सेठ, सुशील सेठ, विकास सेठ, अरविन्द, विकास जायसवाल, अमित सेठ, प्रकाश मोदनवाल आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment