.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: सेंसर वाले टेस्टिंग ट्रैक पर होगा ट्रायल, तब मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस


7.369 करोड़ की लागत से परिवहन विभाग का मेगा प्रोजेक्ट दिसंबर में होगा पूर्ण

मुख्य भवन, चहारदीवारी, गार्ड रूम के साथ ट्रैक का कार्य भी प्रगति पर

आजमगढ़: ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए वाहन चालकों को गंभीरन  में बन रहे ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक से गुजरना होगा। टेस्ट के लिए बनने वाले ट्रैक का नाम आटोमेटिक ड्राइविंग ट्रैक रखा गया है। इस पर परीक्षा के लिए आरआइ को खड़ा नहीं रहना पड़ेगा, बल्कि इस पर लगे सेंसर के माध्यम से वह एक स्थान पर बैठकर आपके वाहन संचालन पर नजर रख सकेंगे। उसी के आधार पर परिणाम घोषित हो जाएगा

इसके बनने के बाद कुशल चालक ही ड्राइविंग लाइसेंस पा सकेंगे। गंभीर वन में निर्माणाधीन ट्रैक दिसंबर माह तक तैयार हो जाएगा। इस पर टेस्ट देते ही लाल व हरी बत्ती चालक को बता देगी आप पास हैं या फेल। 7.36 करोड़ की लागत से ट्रैक का निर्माण कार्य चल रहा है। लगभग 68 फीसद काम पूरा भी कर लिया गया है। परिवहन विभाग की तरफ से गंभीर वन में ट्रैक का निर्माण यूपी स्टेट कांस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट कारपोरेशन करा रहा है। ट्रैक के पास कंट्रोल रूम होगा, जो परीक्षा दे रहे वाहन चालक पर नजर रखेगा। इतना ही नहीं यह पूरी तरह से आनलाइन भी होगा। यानी एक क्लिक पर वाहन चालक की सारी गलतियां भी पता चल जाएंगी।
ट्रायल ट्रैक पर टेस्ट के दौरान एक भी गलती की तो नहीं बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस। गाड़ी को गलत तरीके से चलाने पर लाल व हरी बत्ती फेल व पास का इशारा कर देगी। इससे दलालों का नेटवर्क खत्म हो जाएगा।
ट्रैक पर यदि चालक सही तरीके से वाहन चलाता है और यातायात नियमों की जानकारी रखने में पास हो जाता है, तो ही उसे लाइसेंस जारी किया जाएगा। ट्रैक पर एचडी गुणवत्ता के सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। जांच के लिए ट्रैक पर स्पीड ब्रेकर, स्लोप, जेबरा लाइन, ट्रैफिक लाइट भी होंगी। इनकी निगरानी के लिए यहां सेंसर लगाए जाएंगे। इसमें पास या फेल हो जाता है तो इसके लिए उसे वीडियो रिकाॅर्डिंग दिखाने के साथ उसकी सीडी भी सौंपी जाएगी। इससे उसे यह पता चलेगा कि उसने कहां पर कौन सी गलती की थी। एआरटीओ। सत्येंद्र कुमार यादव ने बताया की ‘ड्राइविंग ट्रैक का निर्माण कार्य शुरू किया जा चुका है। काफी हद तक कार्य हो गया है। दिसंबर में पूरी तरह से तैयार हो जाएगा। नियमों की जागरूकता और ड्राइविंग स्किल सुधरने से सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।’

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment