.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान का डीएम ने किया शुभारंभ



दिमागी बुखार और कोविड-19 को रोकने के लिये डीएम ने लोगों को शपथ दिलाई

आजमगढ़ 02 अप्रैल-- आज जनपद में 02 से 30 अप्रैल 2022 तक चलने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा 15 से 30 अप्रैल के मध्य दस्तक अभियान का शुभारंभ जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने जिला महिला चिकित्सालय आजमगढ़ में किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने जन जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिलाधिकारी ने बताया कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत सभी ग्रामों, मोहल्लों तथा वार्डों में नियमित साफ-सफाई, छिड़काव व सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जाएगा तथा दस्तक अभियान के अंतर्गत आशाओं द्वारा घर-घर दस्तक देकर दिमागी बुखार की रोकथाम तथा उससे बचाव के संबंध में जागरूक किया जाएगा। उन्होने बताया कि कोई भी बुखार दिमागी बुखार हो सकता है, दिमागी बुखार जानलेवा हो सकता हैं और रोग के उपरान्त शारीरिक और मानसिक विकलांगता भी ला सकता हैं। दिमागी बुखार से इस लड़ाई में हर सम्भव सभी प्रयास करें। शौच के लिये शौचालय का प्रयोग करें और सभी को यही करने के लिये प्रेरित करें। व्यक्तिगत साफ-सफाई का ध्यान रखें। अपने घर के आस-पास साफ-सफाई रखें, अपने गांव के वातावरण को स्वच्छ रखें तथा समुदाय को साफ-सफाई एवं स्वच्छता अपनाने के लिये प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति बुखार से पीड़ित हो तो उसके परिवार को तुरन्त इलाज के लिये सरकारी अस्पताल जाने के लिये प्रेरित करें।
जिलाधिकारी ने जनसामान्य से अपील किया कि अपने बच्चों को जे0ई0 के दोनो टीके लगवायें, स्वच्छ पेय जल ही पीयें, पूरी बांह वाली कमीज और पैन्ट पहने, पीने के लिये इण्डिया मार्का-02 के पानी का ही प्रयोग करें, कुपोषित बच्चों का विशेष ध्यान रखें, खुले में शौच न करें, रोजाना स्नान करें, ताकि संचारी रोगों से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि बुखार होने पर बच्चों को बिना किसी देरी के उपचार के लिये सरकारी अस्पताल लाये। कोई भी बुखार दिमागी बुखार हो सकता है, इसलिए पूरी सावधानी बरतें।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 आईएन तिवारी ने बताया कि विशेष संचारी रोग नियन्त्रण अभियान 02 से 30 अप्रैल 2022 तक चलेगा। जिसमें विभिन्न विभागों द्वारा खासकर आशाओं द्वारा घर-घर दस्तक देकर जनसामान्य को दिमागी बुखार से बचाव एवं रोकथाम के बारे में जागरूक किया जाएगा।
जिलाधिकारी ने सभी को दस्तक शपथ- ‘‘हम शपथ लेते हैं कि दिमागी बुखार और कोविड-19 को रोकने के लिये हम हर सम्भव प्रयास करेंगे। हम अपनी और अपने आस-पास की साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखेंगे, हर बार शौच के लिये शौचालय का प्रयोग करेंगे, बार-बार साबुन से हाथ धोयेंगे, घर के बाहर हमेशा मुंह और नाक को मास्क से ढकेंगे, दूसरों से 2 गज की दूरी रखेंगे। यदि कोई बच्चा हमारे गांव में बुखार से पीड़ित होगा तो उसके परिवार को तुरन्त इलाज के लिये सरकारी अस्पताल जाने हेतु प्रेरित करेंगे। अगर किसी को बुखार के साथ सांस लेने में तकलीफ हो, या कोई ऐसे कोविड प्रभावित क्षेत्र से आया हो या किसी कोविड 19 संक्रमित व्यक्ति से मिलकर आया हो तो इसको जानकारी तुरन्त गांव की आशा को देंगे। हम कोविड प्रभावित व्यक्तियों या उनके लिये कार्य कर रहे किसी के साथ काई भेदभाव नहीं करेंगे। हम सब मिलकर दिमागी बुखार, कोविड- 19 एवं अन्य संक्रामक रोगों को हटायेंगे।’’ की शपथ दिलायी गयी।
इस दौरान जिलाधिकारी ने अस्पताल के अन्दर मरीज वार्डां का भी निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने मरीजों से उनके ईलाज एवं दवाओं आदि के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त किया।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 आजाद भगत सिंह, एसडीएम सदर जेआर चौधरी, सीएमओ डॉ0 आईएन तिवारी, जिला महिला अस्पताल की सीएमएस, एसीएमओ डॉ0 एके सिंह, जिला मलेरिया अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment