.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: चीनी मिल में आसान हुई विद्युत उत्पादन की राह


राजस्थान से नया ट्रांसफार्मर मिल में पहुंच गया है

गेहूं कटाई के बाद पूरी क्षमता से बिजली उत्पादन शुरू होगा

आजमगढ़: चीनी मिल सठियांव में एक बार फिर बिजली उत्पाद की राह आसान हो गई है। चार महीने बाद मिल प्रबंधन के प्रयास से राजस्थान से नया ट्रांसफार्मर शुक्रवार को मिल में पहुंच गया और उसे लगाने का भी काम शुरू हो गया है। आसपास गेहूं की कटाई के बाद बिजली का उत्पादन शुरू किया जाएगा। कारण कि अभी उत्पादन शुरू करने से अगर कहीं चिगारी निकली तो किसानों का नुकसान हो सकता है।
सठियांव चीनी मिली में चीनी के साथ बिजली का उत्पादन होता था, लेकिन इसके लिए लगाया गया 18 मेगावाट का ट्रांसफार्मर चार महीने पहले जल गया था। चीनी मिल में कुल 15 मेगावट बिजली उत्पादन होता था, जिसमें 10 मेगावाट बिजली मुहम्मदाबाद ग्रिड को बेची जाती थी, जिससे करोड़ों रुपये की आय होती थी, लेकिन ट्रांसफार्मर जल जाने के कारण मात्र पांच मेगावाट ही बिजली का उत्पादन हो पा रहा था। उतनी बिजली से केवल चीनी मिल का ही संचालन हो पा रहा था।
मीडिया में खबर आने के बाद से ही लगातार मिल प्रबंधन इस प्रयास में था कि जला हुआ ट्रांसफर पुन: बदलकर नया ट्रांसफार्मर स्थापित किया जाए, ताकि बिजली का उत्पादन शुरू हो सके। मिल प्रबंधन के प्रयास यह काम संभव हुआ और राजस्थान से लाकर नया ट्रांसफार्मर लगाए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। जल्द ही नया ट्रांसफार्मर स्थापित कर बिजली का उत्पादन पूरी क्षमता से किया जाएगा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment