.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: यूबीआइ के मैनेजर को रिश्वत लेते सीबीआइ ने दबोचा



10 लाख लोन के बदले डेढ़ लाख रुपये सुविधा शुल्क मांगने का आरोप

शिकायतकर्ता उस भवन के मालिक हैं, जिसमें संचालित की जा रही शाखा

आजमगढ़ : यूनियन बैंक की शाखा चितारा महमूदपुर के प्रबंधक सर्वेश कुमार यादव को सीबीआइ की लखनऊ टीम ने शनिवार को दोपहर रिश्वत लेते पकड़ लिया। प्रबंधक के खिलाफ उस भवन के मालिक ने ही शिकायत दर्ज कराई, जिसमें यूबीआइ की शाखा संचालित की जाती है। चितारा महमूदपुर गांव निवासी अतुल कुमार गुप्ता के मकान में ही यूनियन बैंक की शाखा है। उन्होंने कारोबार के लिए 10 लाख रुपये का ऋण स्वीकृत कराया था। आरोप है कि बैंक प्रबंधक ने ऋण की धनराशि उनके खाते में स्थानांतरित करने के लिए डेढ़ लाख सुविधा शुल्क की डिमांड की। उनके कई प्रयास के बाद भी बात नहीं बनी तो मामला एंटी करप्शन कार्यालय तक जा पहुंचा। चूंकि मामला यूबीआइ से जुड़ा था, लिहाजा सीबीआइ का सहारा लेना पड़ गया। शनिवार की शाम सीबीआइ टीम पहुंची तो पहले अतुल अकेले बैंक प्रबंधक के पास अंतिम प्रयास करने गए। वहां बातचीत में 60 हजार रुपये में बात तय हो गई। अतुल देर शाम रुपये लेकर पहुंचे तो प्रबंधक ने रुपये पकड़ लिए। पहले से अलर्ट अधिकारियों ने उन्हें पकड़कर रुपये बरामद कर लिए। दीदारगंज पुलिस का कहना है कि हमारे यहां कोई जानकारी नहीं दी गई है। ऋण से संबंधित मामले में बाहर की टीम बैंक प्रबंधक को जरूर पकड़कर ले गई है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment