.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: जहरीली शराब कांड के चलते हटाए गए उप आबकारी आयुक्त


माहुल क्षेत्र में हुई थी 07 लोगों की मौत,अभी तक चार कर्मचारी हो चुके हैं निलंबित

आजममढ़: जिले के अहिरौला थाना क्षेत्र के माहुल में जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद उप आबकारी आयुक्त लाल बहादुर मिश्रा को हटा दिया गया है। देर रात उन्हें प्रयागराज से संबंद्ध किया गया है। डीएम अमृत त्रिपाठी ने 25 फरवरी को शासन को रिपोर्ट भेजी थी, इस पर शासन ने आठ मार्च की देर रात निर्देश जारी किया। उप आबकारी आयुक्त पर लापरवाही का आरोप है। आजमगढ़ के माहुल में सरकारी ठेके से अवैध शराब बेची जा रही थी। शराब से हुई मौतों के मामले में अभी तक पुलिस और आबकारी विभाग के चार कर्मचारियों को निलंबित किया जा चुका है। आबकारी विभाग के तीन कर्मचारियों को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। निलंबित होने वाले कर्मचारियों में निरीक्षक नीरज सिंह, आरक्षी सुमन कुमार पांडेय व राजेन्द्र प्रताप सिंह प्रमुख हैं। वहीं इस मामले में अहिरौला थाने के इंस्पेक्टर संजय सिंह को भी निलंबित किया जा चुका है।डीएम अमृत त्रिपाठी के निर्देश पर माहुल क्षेत्र में हुई जहरीली शराब की घटना के बाद इस क्षेत्र की तीन दुकानों को निलंबित कर दिया गया है। निलंबित होने वाली दुकानों में अंबारी, फूलपुर व बिलारमऊ ख की तीन दुकानों को निलंबित किया गया है। इस मामले में एक मुकदमा फूलपुर थाने में जबकि दो मुकदमे अहिरौला थाने में दर्ज हैं। इन तीनों दुकानों से अवैध शराब बरामद हुई थी। जांच में सत्यता पाए जाने पर इन दुकानों को निलंबित किया गया है। अंबारी की दुकान के अनुज्ञापी चन्द्रकेश यादव, बिलारमऊ दुकान के अनुज्ञापी ज्ञान प्रकाश यादव व माहुल दुकान के अनुज्ञापी रंगेश यादव की दुकानों से जहरीली शराब बरामद भी हुई थी। इस मामले में तीनों के विरूद्ध मुकदमा भी दर्ज हुआ है। पूर्व में बाहुबली पूर्व सांसद रमाकांत यादव का रिश्तेदार रंगेश यादव इस मामले में गिरफ्तार भी हो चुका है।​​​​​​जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में अभी तक 13 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस मामले में अभी आठ आरोपियों की तलाश पुलिस कर रही है। इनमें दो पर इनाम रखा गया है। एसपी अनुराग आर्य का कहना है कि फरार आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस ने जब माहुल के रूपाईपुर में आलीशान कोठी पर छापा मारा, तो पुलिस के भी होश उड़ गए थे। इन आलीशान कोठियों में ही अवैध शराब का निर्माण होता था और यहीं से जहरीली शराब और नकली दवाओं की सप्लाई भी की जाती थी। पुलिस को वहां खेत के नीचे नकली शराब बनाने का सामान मिला था। जिले के एसपी अनुराग आर्य ने कहा था कि मामले में जो भी लोग दोषी होंगे उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment