.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय से संबंद्ध होंगे 352 कालेज,दो जिले को मिलेगा सीधा लाभ 


इसके बाद पूर्वांचल विश्वविद्यालय में गाजीपुर व जौनपुर के 453 कालेज शेष रह जाएंगे

आजमगढ़: मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना में शामिल आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना तहसील सदर के यशपालपुर-आजमबांध में अधिग्रहित 50 एकड़ भूमि में होनी है। 1.85 अरब की इस परियोजना का शिलान्यास 13 नवंबर को प्रस्तावित होने का संदेश मिलते ही प्रशासन तैयारियों में जुट गया है। आला अधिकारी जहां शिलान्यास स्थल पर आ जा रहें है वहीं शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने भी मौके पर पंहुच तैयारियां परखी। प्रस्तावित आज़मगढ़ विश्वविद्यालय से संबद्ध 352 कालेजों में मऊ के भी शामिल होने से दो जिलों को सीधा लाभ पहुंचेगा। 1.85 अरब की लागत से बनने वाले राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना हो जाने के बाद उच्च शिक्षा से जुड़ीं कई दुश्वारियां घटेंगी। नए-नए विषय की सुविधा मिलने से छात्र-छात्राओं को राहत मिलेगी। आजमगढ़ ही नहीं, मऊ के स्टूडेंट्स भी इस सुविधा से लाभान्वित होंगे। इससे कहीं न कहीं राेजगार के अवसर बढ़ने के रास्ते भी खुलेंगे। आजमगढ़ व मऊ जिले मेें विभिन्न विषयों के अध्ययन के दृष्टिकोण से उच्च शिक्षा के ज्यादा विकल्प नहीं हैं। राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना से अनेक नए विषयों में संभावनाओं के नए द्वार खुलेंगे। उच्च शिक्षा पर होने वाला व्यय भार भी घटेगा। जनपद के छात्रों को जौनपुर तक की दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी। कई मामलों में छोटी-छोटी त्रुटियां दुरुस्त कराने को स्नातक छात्रों को कई बार विश्वविद्यालय जाना पड़ता था। इससे उनका न सिर्फ समय जाया होता था, बल्कि जेब भी ढीली होती थी। प्रथम चरण में लगभग 100 करोड़ रुपये से विश्वविद्यालय परिसर, प्रशासनिक और आवासीय भवन बनेंगे। विश्वविद्यालय परिसर तक जाने के लिए 16 करोड़ से तीन हेक्टेयर में एप्रोच मार्ग बनेगा। मुख्य गेट से विश्वविद्यालय परिसर तक जाने को 24 मीटर चौड़े 150 मीटर लंबे दो रास्ते होंगे। दोनों तरफ की अलग-अलग सड़कें 8.75 मीटर तो बीच में 2.50 मीटर का डिवाइडर बनाकर पाैधे रोपित किए जाएंगे। इसमें आठ करोड़ रुपये रास्ते के लिए किसानों से खरीदी जाने वाली जमीन का भी मूल्य शामिल है। राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद आजमगढ़ व मऊ जिले के कुल 352 कालेज पूर्वांचल विश्वविद्यालय से अलग होकर यहां से संबंद्ध होंगे। इसके बाद पूर्वांचल विश्वविद्यालय में गाजीपुर व जौनपुर के 453 कालेज शेष रह जाएंगे। पूर्वांचल विश्वविद्यालय में वर्तमान में जौनपुर, आजमगढ़, गाजीपुर, मऊ, प्रयागराज के कालेज संबंद्ध हैं। यहां कुल 805 कालेजों में से आजमगढ़ के 211, गाजीपुर के 282, मऊ के 141, जौनपुर के 170, प्रयागराज हंडिया का एक कालेज संबंद्ध है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment