.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: जेल में निरुद्ध सौ साल के बंदी की मौत,अनजान थे परिजन 


दोहरीघाट निवासी वृद्ध पर जीयनपुर में दर्ज था धोखाधड़ी का मुकदमा

परिजनों को वृद्ध पर मुकदमा और उनके जेल में होने का पता ही नही था

आजमगढ़ : जिला जेल में निरुद्ध सौ वर्षीय राजदेव यादव की गुरुवार की रात मौत हो गई। दोहरीघाट (मऊ) कोतवाली क्षेत्र के बरथापुर गांव निवासी राजदेव के खिलाफ जिले के जीयनपुर कोतवाली में 18 नवंबर 2020 को धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। उसी मामले में जेल में निरुद्ध थे। गुरुवार की रात में तबीयत खराब हुई, तो इलाज के लिए मंडलीय जिला अस्पताल लाया जा रहा था, जहां पहुंचने पर चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। आश्चर्य की बात यह रही कि वृद्ध पर मुकदमा है और वो जेल में थे इनकी जानकारी परिजनों को भी नही थी। पोस्टमॉर्टेम पुलिस की सूचना पर पोस्टमॉर्टम हाउस पंहुचे पुत्रों हरिकांत और पांचू ने बताया की उनके पिता अक्सर साल-साल भर घर से बाहर रह जाया करते थे इसीसे उन्हें उनके जेल में होने का पता नही चल सका था। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment