.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: 62 लाख के गबन का आरोपी पूर्व बैंक लेखाकार गिरफ्तार


2007 से लेकर 2011 तक छात्रवृत्ति एवं विधवा पेंशन आदि की धनराशि गबन का मामला

2014 में दर्ज हुआ मुकदमा, ईओडब्लू की वाराणसी यूनिट कर रही थी जांच

आजमगढ़: आर्थिक अपराध संगठन की वाराणसी शाखा एवं सिधारी थाने की पुलिस के संयुक्त प्रयास से बुधवार को लगभग 62 लाख रुपए सरकारी धन का गबन करने वाले यूनियन बैंक के लेखाकार को गिरफ्तार कर लिया गया। वर्ष 2014 में तत्कालीन जिला समाज कल्याण अधिकारी प्रमोद कुमार सिंह ने सिधारी थाने में कूटरचित रचना कर बनाए गए फर्जी अभिलेख के माध्यम से छात्रवृत्ति एवं विधवा पेंशन की धनराशि 61 लाख 85 हजार 966 रुपए सरकारी धन के गबन का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मामले की जांच आर्थिक अपराध संगठन की वाराणसी शाखा को सौंपी गई। जांच के दौरान सिधारी क्षेत्र अंतर्गत चंडेश्वर स्थित यूनियन बैंक आफ इंडिया में लेखाकार पद पर तैनात रहे श्रीपति राम पुत्र चौथी का नाम प्रकाश में आया। आरोपी के खिलाफ सही तथ्य मिलने पर सिधारी थानाप्रभारी धर्मेंद्र कुमार पांडेय एवं ईओडब्ल्यू में इंस्पेक्टर पद पर तैनात एस के तिवारी ने बुधवार की दोपहर मयफोर्स आरोपी श्रीपति राम के नरौली क्षेत्र स्थित आवास पर दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment