.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: स्थानांतरण नीति के खिलाफ विकासकर्मियों ने भरी हुंकार


ग्राम विकास अधिकारी एवं ग्राम पंचायत अधिकारी समन्वय समिति के बैनर तले हुआ विरोध प्रदर्शन

आजमगढ़: स्थानांतरण नीति के खिलाफ विकासकर्मियों ने सोमवार को विकास भवन के समक्ष धरना दिया। ग्राम विकास अधिकारी एवं ग्राम पंचायत अधिकारी समन्वय समिति के बैनर तले विरोध प्रदर्शन कर रहे विकासकर्मियों ने मुख्य विकास अधिकारी को संबोधित ज्ञापन पीडी अभिमन्यु कुमार को सौंपा। मांग किया कि स्थानांतरण के बाद जब ग्राम विकास अधिकारी व ग्राम पंचायत अधिकारी विकास खंड में अपना योगदान कर रहे हैं तो उन्हें रिक्त एवं अतिरिक्त कलस्टर का चार्ज मिलना चाहिए। जबकि विकास खंड स्तर पर ऐसा न करते हुए मनमाने ढंग से कलस्टर आवंटन किया जा रहा है। संगठन के अध्यक्ष राम सिंह ने कहाकि अवर अभियंता आरइडी को एक से अधिक विकास खंड चार्ज में मिले हैं। जिसके कारण उनके द्वारा सही समय से स्टीमेट व मापन नहीं हो पा रहा है। वहीं उनके माध्यम से रखे गए सहायक कर्मचारियों का उत्पीड़न करते हैं। ऐसी स्थिति में एक विकास खंड एक अवर अभियंता पर विचार करने की आवश्यकता है। ब्लाक स्तर पर सामग्री का पुनर्मूल्यांकन भी विचार किया जाए। 15 जुलाई के बाद जो स्थानांतरण राजनीतिक प्रभाव में हुए हैं, उसे तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाए। मंत्री मानस राय ने कहाकि जनपद स्तर पर जनसूचना बाबू द्वारा ग्राम सचिवों का उत्पीड़न किया जाता है। इसलिए उनका उस पटल से स्थानांतरण किया जाए। ब्लाक बिलरियागंज के सहायक विकास अधिकारी पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए उनके स्थानांतरण की मांग की। कहाकि ग्राम विकास विभाग की जांच ग्राम्य विकास के अधिकारी व अवर अभियंता से कराई जाए और जांच के नाम पर उत्पीड़न बंद किया जाए। कई वर्षों से एक ही विकास खंड में जमे कंप्यूटर आपरेटर व मनरेगा स्टाफ के स्थानांतरण पर विचार किया जाए और मृतक आश्रितों की नियुक्ति और पावनाओं का समयानुसार भुगतान किया जाए।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment