.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: 10 हजार घूस लेते रंगे हाथ पकड़ाया लेखपाल


सामाजिक संगठन प्रयास की मदद से एक और घूसखोर एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा

आजमगढ़: भ्रष्टाचार और अन्याय के खिलाफ संघर्ष करने वाली सामाजिक संगठन प्रयास की मदद से बुधवार को एक और घूसखोर लेखपाल एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा। मेंहनगर तहसील मे तैनात लेखपाल मिथिलेश मौर्या जमींन की स्थलीय जांच कर आख्या देने के नाम पर दस हजार रूपये रिश्वत मांगा था। उसे पकड़कर एंटी करप्शन की टीम सिधारी थाने लायी जहां आवश्यक कार्यवाही चल रही है। मेंहनगर तहसील क्षेत्र के गोपालपुर गांव निवासी श्रीराम चौहान का अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के न्यायालय में जमींन का वाद चल रहा है। उक्त जमींन की स्थलीय जांच कर आख्या देने के नाम पर मेंहनगर तहसील में तैनात लेखपाल मिथिलेश मौर्या ने श्रीराम चौहान से 10 हजार रूपये की रिश्वत की मांग किया। रिश्वत की मांग करने के बाद पीड़ित श्रीराम ने बीते सोमवार को प्रयास सामाजिक संगठन के अध्यक्ष रणजीत सिंह से मुलाकात की। उसी दिन पीड़ित और प्रयास अध्यक्ष रणजीत गोरखपुर स्थित एंटी करप्शन कार्यालय पहुंचे। बुधवार को एंटी करप्शन के निरीक्षक रामधारी मिश्र के नेतृत्व में टीम जिलाधिकारी से मिली। इसके बाद पीडब्ल्यूडी के लिपिक रिजवान अहमद व बीएसए कार्यालय में तैनात सह लिपिक श्रीशक्ति को सरकारी गवाह के रूप में लेकर लेखपाल के बताये गये स्थान पर पहुंची। गौतम नगर बाजार में पीड़ित श्रीराम चौहान ने जैसे ही केमिकल लगे दस हजार रूपये लेखपाल को पकड़ाया वैसे ही एंटी करप्शन की टीम ने उसे धर दबोचा। इसके बाद एंटी करप्शन की टीम ने घूसखोर लेखपाल मिथिलेश मौर्या को पकड़कर सिधारी थाने पर लायी। जहां लेखपाल के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही की जा रही है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment