.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: छेड़खानी में सफल न होने पर किशोरी को तालाब में फेंकने का आरोप


स्थानीय लोगों ने बचाई जान, पुलिस मामले को मान रही संदिग्ध, बताया आपसी रंजिश का मामला
 

आज़मगढ़: अतरौलिया नगर पंचायत के वार्ड न0 04 निवासी व्यक्ति ने प्रभारी निरीक्षक को प्रार्थना पत्र दे कर आरोप लगय कि उसकी 15 वर्षीय पुत्री को गांव के ही निवासी रिंकू निषाद पुत्र काले निषाद ने बृहस्पतिवार की भोर में लघुशंका के लिए जाते समय मुंह में कपड़ा डालकर उठा ले गया और कुछ दूर पर स्थित एक तालाब के किनारे छेड़खानी करने लगा । मेरी लड़की द्वारा इसका विरोध करने पर उसने गुस्से में आकर किशोरी को गहरे तालाब में फेंक दिया । लड़की की चीख पुकार सुन स्थानीय लोगों वहां जुट गए और आनन-फानन में लड़की को तालाब से बाहर निकाला। घर आ कर किशोरी ने परिजनों को पूरी बात बताई ,जिसे सुनते ही परिजनों के होश उड़ गए। जानकारी होते ही तत्काल सूचना डायल 112 नंबर को दी गई । मौके पर पहुंची 112 नंबर पुलिस आरोपी रिंकू निषाद पुत्र काले निषाद को थाने पर लेकर आई। वैसे पुलिस मामले को संदिग्ध मान कर इसे आपसी रंजिश बता रही है। बता दें कि कुछ समय पहले से ही पीड़ित का लड़का तथा विपक्षी का भाई लड़की भगाने के आरोप में जेल में बंद है। इसी बात को लेकर आपस में वाद विवाद चलता रहता है । पीड़ित के आरोप के अनुसार इसी बात का प्रतिशोध लेने के लिए रिंकू निषाद ने लड़की से छेड़खानी करते हुए जान से मारने की कोशिश की। इस सम्बंध में अतरौलिया सब इंस्पेक्टर ने बताया कि यह आपसी रंजिश का मामला है । प्रथम दृष्टया यह मामला पूरी तरह से निराधार है फिर भी जांच की जा रही है। जांच के उपरांत आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment