.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: परिवार में बिखराव रोकने के लिए महिला ने दी जान


पति द्वारा भाई से बंटवारे के विचार से सहमत नहीं थीं रेखा

आजमगढ़: कहा जाता है कि नारी घर की देवी होती है और इस बात को प्रमाणित कर दिया रौनापार थाना क्षेत्र के तुरकौली गांव की रेखा सिंह (35) पत्नी नीलेश सिंह उर्फ नन्हे ने अपनी जान देकर। पति ने जब भी भाई से अलग होने की बात की तो उसने हमेशा विरोध किया और बात जब बर्दाश्त के बाहर हो गई तो उसने अपना गला रेतकर दुनिया छोड़ दी। सुबह एक बारगी चर्चा हुई कि पति ने ही उसकी हत्या कर दी है, लेकिन रेखा के मायके वालों ने पहुंचने के बाद चर्चा पर यह कहकर पूर्ण विराम लगा दिया कि रेखा ने इससे पहले भी आत्महत्या का प्रयास किया था। उसके बाद पुलिस ने विधिक कार्रवाई के तहत शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। ग्रामीणों के अनुसार रात में पति-पत्नी के बीच एक बार फिर भाई से अलग होने की बात शुरू हुई तो पत्नी ने विरोध कर दिया। उसके बाद पति ऊपर के कमरे में सोने चला गया। सुबह नींद खुली तो पति रेखा के कमरे में पहुंचा और वहां का दृश्य देख उसके होश उड़ गए। घटना की जानकारी पुलिस और रेखा के मायके वालों को दी गई। मृतका रेखा सिंह के भाई ग्राम लैरो, थाना कोपागंज निवासी अशोक सिंह ने थाने में प्रार्थना पत्र देकर बताया कि पूर्व में भी पति-पत्नी के विवाद में बहन ने जहर खा लिया था। रेखा की मौत के बाद पुत्री रिया (14) व रितिक (10) समेत परिवार का रो-रोकर बुरा हाल था। मृतका के जेठ ओंकार सिंह सऊदी में रहते हैं, जबकि पत्नी सरोज व एक बेटा घर पर रहते हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment