.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: अशिक्षित समाज मे टीके के बारे में फैली अफवाहों को खारिज करें- डीएम


टीकाकरण पर जागरूकता को डीएम ने धर्मगुरुओं संग की ऑनलाइन बैठक

पोलियो की भांति कोविड को भी समाप्त करने में धर्मगुरुओं की भूमिका महत्वपूर्ण 

आजमगढ़ 01 जून-- जिलाधिकारी राजेश कुमार की अध्यक्षता में टीकाकरण के सन्दर्भ में धर्मगुरुओं के साथ आज तहसील स्तरीय ज़ूम बैठक की गई। इस बैठक में सभी तहसीलों के सभागार में मुस्लिम व हिन्दू धर्मगुरुओं द्वारा प्रतिभाग किया गया जहां से सभी लोगों को जिलाधिकारी द्वारा सम्बोधन किया गया । बैठक के प्रारम्भ में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉप परवेज अख्तर द्वारा मुस्लिम धर्म गुरुओं के साथ साथ अन्य धर्म के धर्माचार्यों को टीकाकरण के लिए अपने अपने समुदाय को जागरूक करने का आह्वान किया गयाl तदोपरान्त जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 संजय द्वारा पोलियो की भांति कोविड को भी टीकाकरण के माध्यम से समाप्त करने के लिए धर्म गुरुओं की भूमिका पर बल दिया गया।
इस बैठक में जामा मस्जिद आज़मगढ़ के इमाम इंतेखाब आलम द्वारा मुस्लिम समाज को टीकाकरण हेतु प्रेरित करते हुए अपना उदाहरण दिया गया व बताया गया कि वे दोनों डोज़ लगवा चुके हैं और उन्हें कोई समस्या नहीं हैl अतः आम जनता किसी अफवाह में न पड़े यह टीका पूर्ण सुरक्षित है और कोरोना से यदि बचना है तो लगवाना जरूरी है। जिला हज समन्वयक मुहम्मद सलीम द्वारा भी जनता से शीघ्र टीकाकरण कराने का अनुरोध किया। तहसील सगड़ी से मदरसा प्रबन्धक जुल्फिकार अहमद द्वारा बताया गया कि इसी प्रकार की अफवाह पोलियो टीके के बारे में भी फैली थी, लेकिन अन्ततः उस पर विजय प्राप्त हुईl अतः सभी लोग अपनी बारी आने पर टीका लगवाएं।
इसी क्रम में प्रत्येक तहसील के सभागार में उपस्थित मुस्लिम व हिन्दू धर्माचार्यगण द्वारा क्षेत्र की जनता से शीघ्र टीका लगवाने का आह्वान किया गया।
अंत मे जिलाधिकारी राजेश कुमार द्वारा अपने सम्बोधन में सबको अवगत कराया गया कि यह टीका अनेक परीक्षणों में सफल होने के उपरांत ही लगवाया जा रहा है, जिससे किसी प्रकार की शारीरिक अथवा मानसिक कमजोरी आदि नहीं होती है। उनके द्वारा बताया गया कि शरारती तत्व जो सोशल मीडिया के द्वारा टीके के बारे में अफवाह फैला रहे हैं, उनको चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगीl उन्होंने यह भी बताया कि गांव-गांव सैंपलिंग के लिए और टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम शिविर लगाया रही हैl अतः प्रारंभिक लक्षण होते ही यदि जांच करा ली जाय और रोग को द्वितीय स्टेज में न जाने दिया जाए तो निगरानी समितियाँ जो दवा वितरण कर रही हैं, उसी से व्यक्ति ठीक हो जा रहा हैl अतः प्रारम्भिक लक्षण आते ही अपनी सैंपलिंग कराएं और कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए टीकाकरण शीघ्र कराएं।
जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित धर्मगुरुओं से आह्वान किया कि वे स्वयं अशिक्षित समाज मे टीके के बारे में फैली अफवाहों को खारिज करें और जिला प्रशासन के साथ टीम वर्क करते हुए जनपद को शीघ्र कोरोना से मुक्त करने में सहयोग दें, जिस पर सभी धर्म गुरुओं द्वारा सहर्ष सहयोग करने और इतनी महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने के लिए जिलाधिकारी महोदय को धन्यवाद दिया गया।
बैठक में प्रत्येक तहसील में लगभग 20-20 धर्म गुरु बुलाये गए थे, जिनमें मुस्लिम धर्मगुरुओं व जनपद के मदरसों में कार्यरत धार्मिक शिक्षकों की भरपूर उपस्थित देखी गयी।
बैठक के अंत मे मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार शुक्ला द्वारा सभी धर्मगुरुओं का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए सभी से जिला प्रशासन के साथ सहयोग करने व अफवाहों को खारिज करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका पर भी चर्चा की गई।
बैठक में अपर जिलाधिकारी, सभी तहसीलों के उपजिलाधिकारी, जनपद के मदरसों के शिक्षक व विभिन्न तहसीलों की मस्जिदों के धर्म गुरु व मंदिरों, मठो के महंत आदि की उपस्थिति रही।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment