.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: छंटा कोरोना का ग्रहण, आधार कार्ड के लिए आइए डाकघर


सुबह 08 बजे से खुल जा रहा है काउंटर, जानिए बच्चों का कैसे बनेगा आधार कार्ड

आजमगढ़ : कोरोना काल में तमाम जरूरी सेवाएं ठप हो गईं। इसमें आधार कार्ड भी शामिल हो गया था। कर्मचारियों की हिम्मत छूट गई थी, लेकिन उनकी हिम्मत को बढ़ाया प्रवर डाक अधीक्षक योगेंद्र मौर्य ने और काम शुरू हो गया। यानी कोरोना का ग्रहण छंटने के साथ प्रधान डाकघर में एक बार फिर आधार कार्ड बनाने का काम शुरू हो गया। इसके लिए निर्धारित काउंटर सुबह आठ बजे से पहले की तरह खोला जा रहा है, लेकिन पहले की तरह से लाइन नहीं लग रही है। कोरोना की दूसरी लहर से पहले काउंटर को बंद कर दिया गया था। बीच में अधिकारियों ने प्रयास भी किया तो कर्मचारी डर के कारण तैयार नहीं हुए। अब कर्मचारी तैयार हुए तो सुबह आठ बजे से लगने वाली लाइन ही गायब है। जो आ भी रहे हैं उनकी संख्या बहुत कम है। पहले एक दिन में सौ से ज्यादा लोग आधार कार्ड बनवाने के लिए आते थे, लेकिन अब उनकी संख्या 15 से 18 तक पहुंच गई है। कुछ लोग तो पता करने के लिए पहुंच रहे हैं और गार्ड से पूछ रहे हैं कि अभी बनना शुरू हुआ कि नहीं।
बच्चों के आधार कार्ड का विकल्प
बच्चों का आधार कार्ड बनवाने को लेकर कुछ लोग परेशान रहते हैं कि आखिर उनका कौन सा प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया जाए, लेकिन उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उसका विकल्प है। प्रमाण के रूप में अस्पताल का जन्म सर्टिफिकेट, माता-पिता के आधार कार्ड की छाया प्रति दे सकते हैं। अगर घर में ही बच्चे का जन्म हुआ हो तो गांव की आशा, प्रधान आदि से प्रमाणित पत्र दे सकते हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment