.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: जिसका कोई नही उसका तो 'रिशु' है यारों...


बेटी के अंतिम संस्कार को लाचार था परिवार, सारिथि सेवा संस्थान के युवा आगे आए

संस्था सचिव विनीत सिंह रिशु ने आगे बढ़ कर किया अंतिम संस्कार


आजमगढ़: आपदा काल हो या न हो अपने जिले नें मानवता की सेवा करने वाली संस्थाओं की कमी पहले भी नही थी आज भी भयंकर आपदा के दौर में भी नही है । ऐसी ही एक संस्था है सारथी सेवा संस्थान जो युवा विनीत सिंह रिशु की अगुवाई में हर स्तर से लोगो कि सेवा में लगी हुई है। इस करोना महामारी में रिशु की संस्था लोगो का दर्द बाटने में दिन रात लगी हुई है। बुधवार को इसी क्रम में संस्थान के सदस्यों को ये जानकारी मिली कि जिला मंडलीय चिकित्सालय में एक लड़की सुषमा प्रजापति जो पवई ब्लाक की रहने वाली थी उनकी मृत्यु हो गई है। दुखद यह था कि उसके पिता की मृत्यु चार माह पूर्व ब्रेन हैमरेज से हुई थी और उसकी माँ भी मंडलीय चिकित्सालय में भर्ती है । अब परिवार में केवल दो बहनें और विकलांग भाई ही हैं जोकि दाह संस्कार करने में समर्थ नही थे । परिवार की उस हालत की खबर मिलते ही विनीत सिंह रिशु के साथ उनकी सेना पहले अस्पताल पंहुचीं और वहां हालात का जायजा लिया। फिर अपने साथियो के साथ संस्था के सचिव विनीत सिंह रिशु ने टीम ऋषभ पांडे,सूर्यप्रकाश गुप्ता, नीरज सिंह के साथ शव को एम्बुलेंस से लेकर राजघाट पंहुचाया और रिशु ने खुद विधि विधान से शव का अंतिम संस्कार किया। लगातार समाज सेवा में लगे युवा लोगों के इस दल ने समाज के दर्द पर एक बार फिर हाथ फेरा है । तभी तो हमने कहा कि जिसका कोई नही उसका तो विनीत सिंह रिशु है यारों। 
विनीत सिंह रिशु ने कहा कि आज हमने जिस परिवार की बेटी का दाह संस्कार किया उनके परिवार में ऐसा कोई नही था जो कर सके बच्चियों के भाई शारीरिक रूप से दिव्यांग है आज लोगो के सहयोग से अंतिम संस्कार किया गया आगे भी हम लोग लोगो के लिए हर तरह की मदद करेंगे।
दाह संस्कार करने वालो में विनीत सिंह रिशु, ऋषभ पांडेय, सूर्यप्रकाश गुप्ता, नीरज सिंह, रिशु गुप्ता साथ ही कुछ मृतका के दूर के रिश्तेदार भी पंहुचे थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment