.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: शराब माफिया मोतीलाल गैंग ‘डी-74’ के नाम से हुआ रजिस्टर्ड


कुख्यात प्रदीप कबूतरा समेत 05 पर भी गैंगस्टर एक्ट लगा,जब्त होगी सम्पत्ति

पुलिस ने दोनो गिरोह की बनाई कुंडली,पहले में 14 तो दूसरे में 05 अपराधी चिन्हित हुए

आजमगढ़ : अवैध शराब के कारोबार से जुड़े मोती लाल उसके साथियों की पुलिस ने कुंडली खोल दी है। खाकी ने इस गिरोह की सक्रियता को स्वीकार करते हुए नामकरण ‘मोतीलाल गैंग’ किया है। इसका कोड ‘डी-74’ रखा गया है, जिसके कंप्यूटर पर क्लिक करते ही स्क्रीन पर एक-एक सदस्यों का ब्योरा सामने होगा। गैंग के सदस्य आजमगढ़, जौनपुर व अंबेडकर नगर के रहने वाले हैं। पुलिस गैंग रजिस्टर्ड करने को अवैध शराब के माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई मान रही है। पुलिस का मानना है कि इससे नियमित निगरानी से आसानी से टूटेगा इन लोगों का काकस। मोतीलाल का गैंग रजिस्टर्ड होने से गिरोह की कमर टूटने की आशंका प्रबल है। दरअसल, पुलिस को न चाहते हुए भी माफिया गैंग की निगरानी करनी पड़ेगी। मसलन, कोई घटना होने पर जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाएगी। लाजिमी कि ऐसी परिस्थिति में पुलिस माफिया गिराेह की नकेल ढीली करना नहीं चाहेगी।
डीसीआरबी में मोती लाल गैंग के पंजीकृत होने से इनके लिए प्रदेश में कहीं भी गड़बड़ी करना मुश्किल होगा। सिस्टम कंप्यूटराइज्ड होने से प्रदेश के किसी जिले की पुलिस एक क्लिक पर गैंग की कुंडली निकाल सकेगी। ऐसे में छानबीन करना भी आसान हो जाएगा। पुलिस के लिए माफिया गिरोह द्वारा अर्जित संपत्ति को नीलाम करना आसान हो जाएगा। मोती लाल गैंग के चिन्हित सदस्यों में शशि कुमार, विपिन कुमार गुप्ता, राजेश अग्रहरि निवासी मित्तूपुर थाना पवई आजमगढ़, अजय कुमार यादव, राहुल कुमार यादव निवासी सरावां थाना दीदारगंज आजमगढ़, दुर्गविजय सिंह इमिली पेटिया थाना जलालपुर (अंबेडकरनगर), बालकिशुन राजभर निवासी थाना दीदारगंज आजमगढ़, वृजेश अग्रहरि निवासी नवानगर पैकौली जलालपुर (अंबेडकरनगर), संजय सोनी निवासी छाछू मोहल्ला जलालपुर (अंबेडकरनगर), श्यामलाल यादव संग्रामपुर थाना दीदारगंज आजमगढ़, किशन यादव, रवि यादव, रंजीत यादव निवासी अताईपुर थाना फूलपुर आजमगढ़, हिर्देश कुमार यादव निवासी जपटापुर पकड़ी थाना सरायख्वाजा जौनपुर के निवासी हैं। इसी कड़ी में पुलिस ने कुख्यात प्रदीप कबूतरा उसके चार साथियों पर भी गैंगस्टर की कार्रवाई की है। इनके ऊपर आर्थिक लाभ के लिए गिरोह बनाकर काम करने का आरोप है। पुलिस अब इनकी संपत्तियों की जांच कर उसे जब्त करने एवं जमींदोज करने की कार्रवाई करेगी। पुलिस की सख्ती से जरायम से जुड़े माफियाओं में हड़कंप मचा है।
पुलिस ने तरवां थाना क्षेत्र के कबूतरा गांव निवासी प्रदीप सिंह, संदीप सिंह ग्राम नंदवां, शिवपाल निवासी ग्राम जमुआ, लाल मौर्या निवासी ग्राम जमुआ व मनीष सिंह निवासी ग्राम कबूतरा है। पुलिस कार्रवाई से पूर्व माफियाओं की कुंडली खंगाली थी, जिसमें किसी की जड़े जरायम में गहरी ताे कोई अवैध शराब का कारोबार चलाता है। जांच में यह भी उजागर हुआ कि इनका एक गिरोह है। पांचों एक-दूसरे के कारोबार में पूर्णतया सहभागिता रखते हैं। मुकम्मल रिपोर्ट के बाद पुलिस इनकी नकेल कसते हुए गैंगस्टर की कार्रवाई की है। कार्रवाई तरवां थाना के इंस्पेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने की है। जनवरी माह में तरवां क्षेत्र से बरामद 742 पेटी शराब मामले की जांच में पुलिस की कार्रवाई आगे बढ़ी है। एसपी आज़मगढ़ सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि माफिया गिरोहों पर एक साथ पलटवार किया गया है। दो बड़ी कार्रवाई की गई है। पहला प्रदीप कबूतरा व उसके गैंग के चार सदस्यों पर गैंगस्टर व अवैध शराब के कारोबारी मोतीलाल को गैंग रजिस्टर्ड किया गया है। दोनों ही गिरोह पर पुलिस अब आसानी से शिकंजा कस सकेगी। अवैध शराब से कमाई गई संपत्ति भी नीलाम की जा सकेगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment