.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: कोरोना से बचाव ही है उपचार ,बाहर जाएँ तो मास्क जरूर लगाएं- डीएम


घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य , उल्लंघन पर अर्थदण्ड व कार्यवाही

मास्क तभी प्रभावी जब बार-बार साबुन और पानी से हाथों को धोया जाए

आजमगढ़ 21 अप्रैल- जिलाधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि एक बार फिर बड़ी संख्या में लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। कोरोना से बचाव के नियमों का सही तरह से पालन न करने की वजह से आज पूरा देश भयावह स्थिति से गुजर रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि संक्रमण से खुद को व दूसरे को संक्रमित होने से बचाने के लिए, फेस कवर (मास्क) का प्रयोग ही एक मात्र विकल्प है । इससे पहनने से किसी संक्रमित व्यक्ति से हवा में मौजूद थूक की बूंदों के माध्यम से कोरोना वायरस के श्वसन तंत्र में प्रवेश करने की सम्भावना बेहद कम हो जाती है। तेजी से बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए शासन द्वारा घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। शासन स्तर से इसके प्रति उल्लंघन करने पर अर्थदंड व कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है। 
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एके मिश्रा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग भी लोगों को बाहर निकलने पर मास्क लगाने व मानक दूरी को बनाने और सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी वस्तु को न छूने, हाथों को बार –बार साबुन से धोने के लिए प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है| अगर मास्क नहीं है तो गमछा, रुमाल, सूती दुपट्टा से दो से तीन परतें बनाकर चेहरे को अच्छी तरह ढक लें| सूती और मोटा कपड़े का होने से मॉस्क से ज्यादा सुरक्षित रहेगा और उसे दोबारा इस्तेमाल से पहले अच्छी तरह साबुन से धोने के बाद इसे धूप में ही सूखने दें। जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी डॉ0 ओमजी श्रीवास्तव ने बताया कि इस बार के कोरोना संक्रमण से अधिक संख्या और कम समय में लोग प्रभावित हो रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है कोविड के नियमों का उलंघन करना। इस संक्रमण से बचने के लिए उपचार से कहीं ज्यादा कारगर है, कोविड नियमों का पालन जैसे मास्क या गमछा, सूती दुपट्टे से नाक, मुंह को अच्छी तरह ढक लें, मॉस्क चेहरे पर अच्छी तरह से फिट हो, गले या नाक के नीचे मास्क न हो, नाक और मुंह अच्छी तरह से ढके हों। सार्वजनिक स्थानों पर बार – बार मॉस्क को न उतारें, सामने की सतह को न छुएँ, उतारते समय इसे पट्टी की तरफ से पीछे से निकालें| घर आने पर साबुन से हाथों को धोने के बाद मास्क उतारे और मास्क को तुरंत साबुन और गरम पानी से साफ करे।| किसी भी दूसरे व्यक्ति से बात करते समय मानव दूरी अवश्य बनाएं, सार्वजनिक स्थान या ऑफिस में किसी भी वस्तु को छूने के बाद सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें। बाहर से घर आने पर हाथों को अच्छे से धोएं और तब तक अपने चेहरे या आँख को न छुएँ। मास्क तभी प्रभावी हो सकते हैं, जब उन्हें इस्तेमाल करने के साथ-साथ बार-बार साबुन और पानी से हाथों को धोया जाये। 
परिवार के प्रत्येक सदस्य के पास कम से कम दो मास्क होने चाहिए, एक को पहन सकें और दूसरे को धो सकें। साथ ही मास्क की उपयोगिता के अनुसार 15 दिन पर नये मास्क का प्रयोग करेंl ध्यान रहे अपने या किसी के मास्क को एक दूसरे के साथ साझा न करें। भीड़ का हिस्सा न बनें, हर दूसरा व्यक्ति संक्रमित हो सकता है। इस विचार के साथ मानव दूरी बना कर रहेंl कोरोना संक्रमण के लक्षण- सुखी खाँसी, तेज बुखार, सांस फूलना, तीनों या इसमें से कोई भी दिखने पर जैसे सांस फूलना या अत्यधिक तेज बुखार होने पर तुरंत अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाएं और निःशुल्क जाँच कराएं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment