.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: लगभग 200 संक्रमितों वाले शहर में ध्वस्त दिख रही कंटेन्मेंट जोन व्यवस्था


02 दर्जन से ज्यादा कंटेन्मेंट जोन के सैनिटाइजेशन पर भी उठ रहे सवाल

पहले की तरह कंटेनमेंट जोन में आवश्यक समान पंहुचाने और सुरक्षा की नही दिख रही व्यवस्था

आजमगढ़ : कोरोना के बढ़ते प्रभाव के बीच अबकी प्रशासनिक सुस्ती भी सामने आने लगी है। जिलाधिकारी बैठकों में कंटेनमेंट जोन की व्यवस्था की जानकारी देने के साथ उसका अनुपालन कराने पर जोर दे रहे हैं तो वहीं मौके पर पूरी व्यवस्था ध्वस्त नजर आ रही है। बैरिकेडिग ध्वस्त है और लोग जरूरत के सामानों की खरीदारी के लिए मजबूरी में बाहर जा रहे हैं। यहां तक कि कंटेनमेंट जोन को सैनिटाइज तक नहीं किया जा रहा है। नगर पालिका प्रशासन दावा कर रहा है कि शहर के सभी 26 कंटेनमेंट जोन को दो बार सैनिटाइज किया जा रहा है लेकिन उसके दावे की कलई मौके पर खुलती नजर आ रही है। बैरिकेडिग की हालत यह कि वह ध्वस्त है और लोग अपनी जरूरत के सामान लेने के लिए एरिया से बाहर जा रहे हैं। उदाहरण के तौर पर ईदगाह के पास की एक गली को लिया जा सकता है।
इस गली में रहने वालों को कोई सुविधा न मिलने से लोग परेशान हैं। गली से निकलते वक्त एक युवक को रोककर सवाल किया गया कि एरिया सील से बाहर क्यों जा रहे हो तो उसका सीधा जवाब था कि घर में दूध नहीं है, बाजार में लेने जा रहा हूं। इसी तरह से कोई दवा लेने के लिए निकल रहा था तो किसी के घर में सब्जी नहीं थी। पिछले वर्ष कंटेनमेंट जोन बनने के बाद वहां पुलिस की तैनाती कर दी जाती थी। आसपास के दो दुकानदारों को जरूरी खाद्य पदार्थ पहुंचाने के लिए अधिकृत किया जाता था। घर के पास सामान उपलब्ध होने के कारण लोग खुद भी घर से बाहर जाने की जरूरत महसूस नहीं करते थे लेकिन इस बार ऐसी कोई व्यवस्था न होने से प्रतिबंधित क्षेत्र के लोगों को बाहर निकलना पड़ रहा है। हालांकि, नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी डॉ. शुभनाथ का कहना है कि शहर में मरीजों की संख्या लगभग 190 पहुंच गई है। कंटेनमेंट जोन में दिन में दो बार सैनिटाइजर का छिड़काव कराया जा रहा है। बाकी व्यवस्था तहसील प्रशासन के जिम्मे है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment