.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: घेरलू कलह का शिकार हुआ मासूम बालक, मां गंभीर


घर से गुस्से में निकली महिला पीछे-पीछे आए बेटे को पानी भरे गड्ढे में फेंक खुद भी कूदी 

ग्रामीणों ने दोनों को पानी से निकाला, बच्चे को डाक्टर ने देखते ही मृत घोषित कर दिया 

आजमगढ़: घरेलू कलह एक परिवार पर कहर बनकर टूटा। एक मां ने अपने जिगर के टुकड़े को पहले पानी भरे गड्ढे में फेंका, फिर पीछे से खुद छलांग लगा दी। ग्रामीणों ने दिल को दहला देनेे वाली घटना देखी तो मां-बेटे को बचाने पानी से भरे गड्ढे में कूद पड़े। दोनों को निकट के अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टर ने मासूम को मृत घोषित कर दिया। मां को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी। स्वजनों ने पुलिस को इत्तला दिए बगैर ही मासूम का अंतिम संस्कार कर दिया। इलाकाई पुलिस सनसनीाखेज घटना से अनभिज्ञ रही तो इलाके में घटना पूरे दिन सुर्खियां बनी रहीं। 
सगड़ी क्षेत्र के अतरकच्छा की रहने वाली एक विवाहिता का रविवार की सुबह अपने बड़े बेटे से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इस कदर गहराया कि मां गुस्से में घर से बाहर निकलकर जाने लगी। उसका छह वर्षीय बेटा भी पीछे-पीछे चल पड़ा। मां गांव से तीन किमी. दूर जमीन हरखोरी पहुंची तो उसके दिमाग में न जाने क्या सूझा कि अजमतगढ़ ताल के समीप पानी भरे गड्ढे में पुत्र को फेंकने के बाद खुद भी कूद गई। उधर से गुजर रहे लोगों ने देखा तो मां-बेटे को पोखरे से निकालकर एक निजी अस्पताल में पहुंचाया, जहां डाक्टर ने मासूम को मृत घोषित कर दिया। मां की हालत गंभीर बनी हुई थी। मासूम तीन भाइयों में सबसे छोटा था। पिता मुंबई में रहकर नौकरी करते हैं। मृतक के दादा व दादी का रो-रोकर बुरा हाल था।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment