.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: नही पंहुची बारात,थाने पर पंहुचा कन्या पक्ष,हुई पंचायत


सिधारी पुलिस ने कराई दोनों पक्षो में पंचायत,लड़का पक्ष करेगा आर्थिक क्षतिपूर्ति

आजमगढ़ : एक दिन पूर्व शादी की तय तारीख पर बरात ना ले आने से क्षुब्ध लड़की पक्ष वाले लड़का पक्ष पर दहेज के रूप में ₹50,000 ज्यादा मांगने का आरोप लगाते हुए सिधारी थाने पर धमक पड़े। आजमगढ़ के सिधारी थाना क्षेत्र के संमेंदा भडसरा गांव से बारात अंबेडकरनगर के जैतपुर थाना के इदलपुरा गांव में जानी थी। लड़की पक्ष पूरी तैयारी के साथ बारात की आगवानी के लिए इंतजार कर रहा था लेकिन बारात पंहुचीं ही नही। जिससे हंगामा मच गया। लड़की पक्ष ने स्वागत के लिए अपने क्षमता के अनुसार काफी इंतजाम कर रखा था जो बेकार चला गया। जब बरात ना आने का कारण का पता चला तो सभी को सांप सूंघ गया। आरोप है कि लड़के वालों पर पहले ही 50,000 कैश और सगाई की रस्म में जो भी होता है उसको खर्च किया गया था लेकिन इसके बाद भी और धन की लालसा बनी हुई थी। जिसके लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा था। इसके बाद भी लड़की के पिता ने भरोसा दिया था कि बरात लेकर आएंगे तो यहां पर मंडप पर उनकी मांग पूरी की जाएगी लेकिन वर के परिजन बरात से पहले ही ₹50000 देने की मांग पर अड़ गए। शादी के दिन बरात न आने से सामाजिक आर्थिक रुप से नुकसान की बात कहते हुए लड़की पक्ष के लोग अंबेडकर नगर से आजमगढ़ के सिधारी थाने पर पहुंच गए,जहां पुलिस और महिला संगठन की पहल से लड़के पक्ष के लोगों को भी बुलवाया गया। जहां शुरू में तू तू मैं मैं के बाद पुलिस और महिला संगठनों की पहल पर घंटों पंचायत के बाद जो भी क्षति हुई उसकी पूर्ति के लिखित सुलहनामे के बाद मामला शांत कराया गया। थाने पर मौजूद लड़की ने भी ऐसे घर में शादी करने से मना कर दिया। तब तय हुआ कि दो से 3 दिन के भीतर लड़का पक्ष लड़की या उसके माता-पिता के खाते में पैसा जमा कराएगा। अन्यथा इस मामले में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment