.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: बुनकरों की बदहाली और बिजली दर पर प्रियंका गांधी ने सीएम को पत्र लिखा


बुनकरों की हस्तकला द्वारा सदियों से उत्तर प्रदेश का नाम रौशन हुआ है, कठिन दौर में उनकी मदद की जरूरत- प्रियंका गांधी


आज़मगढ़: पूर्वांचल क्षेत्र की जनसमस्याओं पर मुखर रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अब पूर्वांचल खासकर वाराणसी और आस पास के बुनकरों की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजा है । पत्र में प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को बुनकरों की बदहाली एवम उनके लिए बिजली दर को वापस फ्लैट रेट पर निर्धारित करने की मांग की है साथ ही सरकार की नीतियों पर इशारे में सवाल उठाया है । उन्होंने लिखा है कि मेरी जानकारी में आया है कि पिछले कुछ समय से बुनकर बहुत ही परेशान और हताश हैं। पूरी दुनिया में मशहूर बनारसी साड़ियों के बुनकरों के परिवार दाने-दाने को मोहताज हो गए हैं। कोरोना महामारी और सरकारी नीतियों के चलते उनका पूरा कारोबार चौपट हो गया है जबकि उनकी हस्तकला द्वारा सदियों से उत्तर प्रदेश का नाम रौशन हुआ है। उत्तर प्रदेश सरकार को इस कठिन दौर में उनकी पूरी सहायता करनी चाहिए।
यूपीए सरकार ने 2006 में बुनकरों के लिए फ्लैट रेट पर बिजली देने की योजना लागू की थी।
मगर आपकी सरकार यह योजना खत्म करके बुनकरों के साथ बहुत नाइंसाफी कर रही है। सिर्फ इतना ही नहीं बुनकरों ने मुझे बताया कि मनमाने बिजली बिल के खिलाफ जब वे हड़ताल पर गए तो सरकार ने उन्हें वार्ता के लिए बुलाया। सरकार के प्रतिनिधि ने उन्हें भरोसा भी दिलाया कि उनकी मांगें मान ली जाएंगी। लेकिन इसके बावजूद उनकी समस्याओं का समाधान करने का कोई प्रयास नहीं हुआ।
प्रियंका यही तक नही रुकी उन्होंने पत्र में बुनकरों की मांगो का भी बिंदुवार उल्लेख किया है।
जिनमे फ्लैट रेट पर बिजली देने की योजना बहाल करने, फर्जी बकाया के नाम पर बुनकरों का उत्पीड़न तत्काल प्रभाव से रोकने एवम बुनकरों के बिजली कनेक्शन न काटे जाने के साथ ही जो बिजली के कनेक्शन कट गए हैं उन्हें तत्काल बहाल किये जाने की मांगें है ।
प्रियंका ने सीएम योगी से बुनकरों की मांगों को गंभीरता से लेने और सकारात्मक कदम उठाने की मांग की ।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment