.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: अब पैसेंजर ट्रेनों को भी चलाने की उठी मांग


रेल प्रशासन को कोविड-19 का पालन कराते हुए लोकल ट्रेनों को चलाना चाहिए- एस के सत्येन

आजमगढ़ : कोरोना को दरकिनार कर रेलवे ने ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया है। इसके बाद पैसेंजर ट्रेनों को भी चलाने की मांग उठने लगी है। शाहगंज-बलिया व वाराणसी-आजमगढ़ (तमसा) पैसेंजर ट्रेन को लोकल यात्रियों ने महत्वपूर्ण बताया है। इन ट्रेनों के अभाव में लोगों का धन व समय दोनों बर्बाद हो रहा है। आदर्श रेलवे स्टेशन होकर गुजरने वाली साबरमती, ताप्तीगंगा, सरयु-यमुना, गोदान, आनंद विहार, उत्सर्ग व गरीब नवाज, कैफियात एक्सप्रेस के अलावा दो पैसेंजर ट्रेनें भी चलती थीं। कोरोना संक्रमण के दौरान लाकडाउन लगा तो सभी ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया था। एक जून से लंबी दूरी की तीन ट्रेनों का संचालन शुरू किया गया। उसके बाद जनता की मांग पर गोदान और कैफियात चलाई गई। अब पैसेंजर ट्रेनों के संचालन मांग जोरशोर से उठी है। स्थानीय लोगों ने अपनी जरूरतों का हवाला देते हुए कहा है कि सड़क मार्ग से सफर करना उनकी जेब पर भारी पड़ रही है। पैसेंजर ट्रेन चलाई जाए तो शाहगंज, फूलपुर, मऊ, रसड़ा, बलिया व वाराणसी का सफर जेब पर भारी नहीं पड़ेगा।
रेलवे सलहाकार समिति के सदस्य एसके सत्येन ने कहा कि पैसेंजर ट्रेनें न चलने से गरीबों की जेब कट रही है। रेल प्रशासन कोविड-19 का पालन कराते हुए लोकल ट्रेनों को चलाना चाहिए। प्रत्येक व्यक्ति कोरोना से बचाव को सतर्क है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment