.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: लेखा पटल सहायक को निलंबित करने का आदेश, मास्क न पहनने पर जुर्माना भी


मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने नगर पालिका परिषद आज़मगढ़ का औचक निरीक्षण किया

आज़मगढ़ 13 अक्टूबर - मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने मंगलवार को नगर पालिका परिषद आज़मगढ़ का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कार्यालय में साफ सफाई, पत्रावलियों के रख रखाव व व्यवहरित किये जाने, भुगतान आदि में अनेकों खामियाॅं मिलने पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिशासी अधिकारी डा.शुभनाथ प्रसाद को तत्काल कार्यालयीय कार्यों में सुधार एवं पारदर्शिता लाने का निर्देश देते हुए आगाह किया कि 10 दिन बाद पुनः आकस्मिक निरीक्षण किया जायेगा, यदि उस समय तक खामियाॅं दूर नहीं हुई तो कार्यवाही निश्चित है। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने सबसे पहले कार्यालय के लेखा पटल का निरीक्षण किया। लेखा से सम्बन्धित कार्यों का सम्पादन कर रहे पटल सहायक उत्तम कुमार मिश्र द्वारा कार्यालय में कतिपय लोगों के मौजूदगी के बावजूद कोविड-19 के सम्बन्ध में जारी गाइड लाइन की अवहेलना करते हुए बिना मास्क लगाये एवं बिना सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन किये ही कार्य करते पाये जाने पर मण्डलायुक्त ने सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए उनसे 500 रुपये जुर्माना वसूल करने का निर्देश दिया। इस दौरान पटल सहायक श्री मिश्र द्वारा कई भ्रामक तथ्यों का उल्लेख करने, एक सप्ताह के अन्दर किये गये कार्यों की जानकारी न देने, भुगतान की गयी धनराशि एवं लम्बित भुगतान की जानकारी नहीं दे पाने, प्रचलित पत्रावली के स्थान पर गत वर्ष की निष्पादित पत्रावली प्रस्तुत करने पर सख्त नाराजगी व्यक्त किया। मण्डलायुक्त द्वारा 14वें वित्त आयोग के सम्बन्ध में पूछे जाने पर श्री मिश्र द्वारा अवगत कराया गया कि 14वें वित्त में धनराशि नहीं है। इस पर मण्डलायुक्त श्री पन्त ने जब लिखित रूप से अवगत कराये जाने का निर्देश दिया तो उक्त पटल सहायक श्री मिश्र द्वारा बहानेबाजी की गयी, जिसपर घोर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्होंने उक्त कर्मचारी को प्रतिकूल प्रविष्टि देने तथा उन्हें निलम्बित करने हेतु चार्जशीट निर्गत करने हेतु ईओ को निर्देशित किया।
मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त द्वारा निर्माण कार्यों से सम्बन्धित पटल के निरीक्षण में पाया गया कि सम्बन्धित पटल सहायक युवराज सोनकर द्वारा लेखा अनुभाग एवं अन्य स्तरों पर भेजे जाने वाली पत्रावलियों को अंकन नहीं किया जा रहा है। इस पर मण्डलायुक्त ने सम्बन्धित निर्माण पटल सहायक को तत्काल पूरा विवरण तैयार करने का निर्देश दिया। निरीक्षण के समय जहाॅ कार्यालय में साफ सफाई की व्यवस्था अत्यन्त दयनीय पाई गयी वहीं पत्रावलियों का रखा रखाव भी काफी अव्यवस्थित पाया गया। प्रचालित पत्रावलियों एवं विगत वर्षों में निष्पादित हो चुकीं पत्रावलियों को एक साथ रखे जाने पर भी नाराजगी व्यक्त किया। उन्होंने अधिशासी अधिकारी स्तर से नगर पालिका परिषद कार्यालय का निरीक्षण एवं कार्यों की समीक्षा नहीं किये जाने पर असन्तोष व्यक्त करते हुए आगाह किया कि 10 दिन बाद किसी समय औचक निरीक्षण किया जायेगा, इस दौरान सारी व्यवस्थायें, साफ सफाई चुस्त दुरुस्त मिलनी चाहिए, अन्यथा सम्बन्धित कर्मचारी के साथ ही ईओ के विरुद्ध भी कठोर कार्यवाही की जायेगी। निरीक्षण के दौरान गत दो माह से मानदेय नहीं मिलने के कारण कार्यरत परिसर में अनशन कर रहे ठेका सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधियों से वार्ता कर उनकी समस्यायें सुनीं। अवगत कराया गया कि ईओ द्वारा इन कर्मचारियों को एक माह का मानदेय तत्काल दिये जाने तथा शेष भुगतान दशहरा से पूर्व किये जाने की सहमति दी गयी है, परन्तु कर्मचारी तैयार नहीं हैं। इस सम्बन्ध में ईओ ने बताया कि एकमुश्त भुगतान संभव नहीं हो पा रहा है। इस पर मण्डलायुक्त ने कर्मचारियों के प्रतिनिधियों से कहा कि स्थिति से कर्मचारियों को अवगत कराते हुए उन्हें तैयार करें। इसके साथ ही उन्होंने ईओ को समय से भुगतान सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment