.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: पीएम के मन की बात में अपनी संस्था का नाम सुन प्रसन्न हुए दयाशंकर सिंह

 


पवई क्षेत्र के कछरा गांव निवासी दया शंकर सिंह इरादा फाउंडेशन के संस्थापक हैैं, पीएम मोदी ने संस्था की सराहना किया

आजमगढ़ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मन की बात कार्यक्रम में खुद की संस्था इरादा फाउंडेशन का नाम सुन कर के संस्थापक दयाशंकर सिंह काफी खुश दिखे। गौरतलब है की प्रधानमंत्री ने इस रविवार मैन की बात कार्यक्रम में किसानों के हित में काम करने वाली संस्थाओं का जिक्र किया था जिसमे उन्होंने दयाशंकर सिंह की संस्था का भी नाम लिया था । संस्था की स्थापना 1998 में जिले के पवई क्षेत्र के कछरा गांव के दयाशंकर सिंह द्वारा सुल्तानपुर जनपद में किया गया। 2009-10 में नाबार्ड के साथ 460 गांव ,जिसमें आजमगढ़ ,लखनऊ,बाराबंकी, सुल्तानपुर, जौनपुर, हर्दोई बस्ती सीतापुर,उन्नाव,कानपुर जिले से 40-40 किसानों का कृषक क्लब बनाया तथा मंडी का सर्वेक्षण भी करवाया। 2009-10 में ही किसानों की सब्जी उठाकर 65 होटलों और अपार्टमेंट्स मेंसप्लाई शुरू किया। टाटा ट्रस्ट के साथ बाढ़ प्रभावित बस्ती जिले के कुदरहा ब्लॉक से लगभग 550 किसानों को खेती के लिए फ्री में सारी सुविधाएं प्रदान करने के साथ मचान पर खेती करना सिखाया। 2014-15 में कृषक उत्पादक कंपनी बनाकर खाद,बीज,कीटनाशक तथा मंडी का लाइसेंस किसानों के लिए बनवाया। लॉकडॉउन के कोविड-19 के समय जितने डॉक्टर परिवार सेवा में जुड़े थे उनके लिए सब्जी,फल व अनाज का वितरण करवाया। उनके इस कार्य की चर्चा पीएम ने मन की बात में की तो दयाशंकर का उत्साह और भी बढ़ गया। लखनऊ में तीन जगह पर कम्युनिटी किचन का संचालन भी किया गया। 2000 किसानों को मास्क, सैनिटाइजर, साबुन इत्यादि वितरित किया गया। लॅाकडाउन के समय सब्जी,फल,अनाज,मास्क, सैनिटाइजर, साबुन वितरण का मुख्य केंद्र बिदु लखनऊ तथा बाराबंकी था।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment