.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

तरवां में प्रधान का शव पहुंचते ही कोहराम मचा, सीएम की आर्थिक सहायता सौंपी गई

परिजनों ने की सरकारी नौकरी और असलहा लाइसेन्स की मांग 

पुलिस छावनी में तब्दील हुआ क्षेत्र, चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज

आजमगढ़ : जिले के तरवां थाना क्षेत्र के ग्राम बांसगांव में शुक्रवार को मारे गए प्रधान का शव पहुंचते ही कोहराम मच गया। सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। अपनी मांगों पर अड़े प्रधान के परिवार को पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने पूरा करने का आश्वासन देकर समझाया। परिजनों को सीएम की तरफ से आर्थिक सहायता भी सौंपी गई। बोगरिया में शुक्रवार को हुए बवाल के बाद बांसगांव के साथ ही बोंगरिया बाजार पुलिस छावनी में तब्दील है। शनिवार को गांव व बाजार में एक प्लाटून पीएसी सहित कई थानों की फोर्स लगी रही। अधिकारी भी चक्रमण कर रहे हैं। पुलिस पूरी रात माहौल को शांत कराने में जुटी रही। 
बता दें कि बासगांव प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की शुक्रवार की शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना से आक्रोशित गांव के लोग बोगरिया में सड़क जाम कर रहे थे। इसी दौरान मची भगदड़ में एक वाहन की चपेट से 12 वर्षीय बालक की मौत हो गई थी। इसके बाद लोगों का आक्रोश बढ़ गया। पुलिस चौकी के पास लोगों ने आगजनी की थी और पुलिस ने हवाई फायरिग की थी।
पोस्टमार्टम के बाद प्रधान का शव आते ही कोहराम मच गया। प्रधान के घर पर गांव के लोगों की भीड़ जमा हो गई। लोग अब भी अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। परिवार वालें प्रधान के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, लड़की का एडमिशन केंद्रीय विद्यालय में कराने के साथ ही अभियुक्तों की गिरफ्तारी और असलहा के लाइसेंस की मांग कर रहे हैं। अधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि पुलिस की टीम जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेगी। डीएम ने कहा की प्रधान के परिवार को असलहा का लाइसेंस दिया जाएगा। घटना को लेकर तीन मुकदमा दर्ज हुआ है। प्रधान की हत्या के मामले में पुलिस चौकी पर तोड़फोड़ के मामले दुर्घटना के मामले में सभी घटनाओं की जांच की जा रही है।

चार लोगों के खिलाफ केस, दोनों परिवार को मिली आर्थिक सहायता

तरवा के बासगांव में शनिवार की शाम हुई प्रधान की हत्या के मामले में पुलिस ने पत्नी की तहरीर पर 4 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। चौकी पर आगजनी करने वाले अज्ञात लोगों पर भी केस दर्ज किया गया है। शनिवार की दोपहर पुलिस अधीक्षक, जिला अधिकारी ने पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद दी। प्रधान के परिजनों को 10 लाख की आर्थिक सहायता दी गई। वहीं दुर्घटना में मारे गए 12 वर्ष के बालक के परिजनों को 5 लाख की आर्थिक सहायता दी गई।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment