.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

गिरोह बन्द अपराधियों की पहचान कर उनकी सम्पत्तियों को कुर्क करें - डीएम

35 लाइसेंस निरस्त हुए , 02 दिन में असलहा जब्त करें -डीएम

आपराधिक प्रवृत्ति के प्रधानों को चिन्हित करने के साथ ही गांव के विवादों को निस्तारित कराएं 

आजमगढ़ 18 अगस्त-- जिलाधिकारी राजेश कुमार व पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में कानून व्यवस्था के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुई।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने समस्त सीओ व एसडीएम को निर्देश दिये कि विभिन्न थाना क्षेत्रों में जो गिरोह बन्द अपराधी हैं, उनको चिन्हित करते हुए उनकी सम्पत्तियों को कुर्क करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जो गैंगेस्टर के अपराधी हैं, उनके संबंधित ग्रामों में भी जाकर मुआयना करते हुए तब्दीश कर कार्यवाही करें।
जिलाधिकारी ने समस्त एसडीएम/सीओ को निर्देश दिये कि तरवाॅ, अजमतगढ़, जहानागंज में जो भी भूमि के विवाद हैं, उसका निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर करें। इसी के साथ ही धारा-153 व 145 के मुकदमे का भी निस्तारण करने के लिए समस्त एसडीएम को निर्देश दिये। साथ ही कितने केसों में तामिला, बयान नही हुआ है, उनकी सूची बनाकर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
35 शस्त्र लाइसेंस निरस्त किये गये हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने समस्त पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिये कि उक्त शस्त्रों को दो दिन के अन्दर जब्त कराना सुनिश्चित करें।
पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह ने समस्त सीओ, थानाध्यक्षों एवं इंस्पेक्टर को निर्देश दिये कि जो भी अपराधी 302 के हैं या जो जघन्य अपराधी हैं और बेल पर छूटे हुए हैं, उनका चिन्हिकरण करते हुए उनको जिला बदर कराना सुनिश्चित करें। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि जो अपराधी जिला बदर हो चुके हैं, वे अपराधी गाॅव में तो नही घूम रहे हैं, इसकी भी जांच करते हुए कार्यवाही करें। इसी के साथ ही मर्डर और लूट के केस में जिन अपराधियों की गिरफ्तारी अभी तक नही हुई है, उन संबंधित अपराधियों पर एक हफ्ते के अन्दर गिरफ्तारी की कार्यवाही पूर्ण करें। उन्होने बताया कि प्रधानी का चुनाव आने वाला है, इसलिए गाॅव के नाली, खड़न्जा, मनरेगा, जमीनी विवाद आदि छोटे-छोटे विवादों का चिन्हांकन कर लें एवं इसका निस्तारण एसडीएम से समन्वय बनाकर निस्तारण करायें।
इसी के साथ ही पुलिस अधीक्षक ने यह भी निर्देश दिये कि जिन प्रधानों का बैकग्राउण्ड आपराधिक प्रवृत्ति का है, उनका भी चिन्हांकन पहले से ही कर लें। उन्होने बताया कि प्रधान से संबंधित शिकायतें जनपद स्तर पर 154, विकास खण्ड स्तर पर 91 प्राप्त हुए हैं, जिसका निस्तारण सीओ/एसडीएम संयुक्त रूप से करें। इसी के साथ ही उन्होने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को निर्देश दिये कि प्रधानों की शिकायतों की सूची थानेवार उपलब्ध करा दें।
जिलाधिकारी ने बताया कि मोहर्रम का त्यौहार आने वाला है, इसके लिए समस्त एसडीएम व पुलिस के संबंधित अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि जिन-जिन स्थानो से परम्परागत ताजिया निकलता है, वहाॅ के ताजियादार कौन-कौन है व कमेटी के कौन-कौन सदस्य हैं, उसकी सूची बना लें और ताजियादार व कमेटी के लोगों के साथ बैठक कर लें। उन्होने बताया कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत इस बार ताजिया नही निकाली जायेगी।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गुरू प्रसाद, एसपी सिटी पंकज कुमार पाण्डेय, एसपी ट्रैफिक सुधीर जायसवाल, एसपी ग्रामीण, सीओ सिटी ईला मारन, समस्त एसडीएम/सीओ, थानाध्यक्ष सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment