.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

रोस्टर से विद्युत सप्लाई करें, उपभोक्ताओं की समस्याओं का समय से करें निराकरण: मण्डलायुक्त

बांध कटान रोकने की पूर्व व्यवस्था न होना आपत्तिजनक, भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति न होने पाये

समीक्षा बैठक में कमिश्नर ने विद्युत विभाग व बाढ़ खण्ड के अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश

आज़मगढ़ 19 अगस्त -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने बुधवार को मण्डलीय समीक्षा बैठक के अन्तर्गत विद्युत, सिंचाई एवं बाढ़ खण्ड, उद्योग, खादी ग्रामोद्योग, नलकूप, लघु सिंचाई आदि विभागों की समीक्षा के दौरान विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति करना सुनिश्चित करें। इसके अलावा विद्युत उपभोक्ताओं की समस्याओं का भी प्राथमिकता पर निराकरण किया जाय। उन्होंने कहा कि अनियमित कटौती, कम आपूर्ति, जले ट्रान्सफार्मरों को बदलने का विलम्ब किये जाने आदि की निरन्तर शिकायतें प्राप्त हो रही हैं इसलिए इस ओर विशेष ध्यान दिये जाने की आवश्यकता है। इसके अलावा आगामी दिनों के पड़ने वाले त्योहारों को भी दृष्टिगत रखते हुए पर्याप्त बिजली सप्लाई की व्यवस्था समय से पूर्व अनिवार्य रूप से कर ली जाय। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने अपने कार्यालय के सभागार में आयोजित उक्त बैठक खराब ट्रान्सफार्मरों को निर्धारित अवधि के अन्दर बदले जाने की स्थिति की समीक्षा के दौरान सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया कि शासन द्वारा निर्गत गाइडलाइन के अनुसार ट्रान्सफर्मरों को बदलना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता ट्रान्सफार्मर को निर्देशित किया कि जो ट्रान्सफार्मर गारण्टी अवधि में जल जा रहे हैं उन्हें कम्पनी को तत्समय ही भेज दें तथा सुनिश्चित कर लिया जाय कि उसके स्थान पर दूसरा नया ट्रान्सफार्मर दिया जा रहा है, किसी भी दशा में मरम्मत किया हुआ ट्रान्सफार्मर प्राप्त नहीं किया जायेगा। इसी क्रम में उन्होंने यह भी निर्देश दिया गारण्टी अवधि में खराब हुए ट्रान्सफार्मरों, वारण्टी अवधि में एक अधिक बार खराब हुए, गारण्टी अवधि के खराब हुए ट्रान्सफार्मर के बदले दूसरा ट्रान्सफार्मर दिये जाने आदि का पूरा विवरण एक सप्ताह में उपलब्ध कराया जाय। आज़मगढ़ में अण्डर ग्राउण्ट वायरिंग की स्थिति के सम्बन्ध में अवगत कराया गया कि एनएचएआई के चैड़ीकरण में कतिपय स्थानों पर केबल कट गयी है। इस पर मण्डलायुक्त ने उसे ठीक कराने हेतु अग्रेतर कार्यवाही तत्काल प्रारम्भ किये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने सौभाग्य योजना के लक्ष्य तथा उसके सापेक्ष उपलब्धि एवं कार्य अवशेष रह जाने के कारणांे का स्पष्ट उल्लेख करते हुए पूरा विवरण भी तलब किया है।
मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने सिंचाई एवं बाढ़ खण्ड के कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि गत दिवस आज़मगढ़ के देवारा क्षेत्र में बन्धा टूट जाने से स्पष्ट हुआ कि सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा न तो पहले से निरीक्षण किया गया था और न ही संभावनाओं के दृष्टिगत कोई पूर्व व्यवस्था ही की गयी थी। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता बाढ़ खण्ड को निर्देशित किया कि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने जनपद मऊ एवं बलिया के अधिशासी अभियन्ताओं को भी सभी व्यवस्थायें निरन्तर चुस्त दुरुस्त रखने की हिदायत दी। बैठक में मण्डलायुक्त द्वारा ओडीओपी, प्रधानमन्त्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमन्त्री युवा स्वरोजगार योजना, मुख्यमन्त्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना, निःशुल्क बोरिंग, नये नलकूपों के उर्जीकरण आदि की समीक्षा की गयी तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।
इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त पीएन वर्मा, मुख्य अभियन्ता विद्युत राजेश रंजन सिंह, संयुक्त आयुक्त उद्योग रंजन चतुर्वेदी, परिक्षेत्रीय ग्रामोद्योग अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद, अधिशासी अभियन्ता बाढ़ खण्ड आज़मगढ़ एवं बलिया क्रमशः दलीप कुमार एवं संजय कुमार मिश्र, अधिशासी अभियन्ता लघु सिंचाई, तीनों जनपद के अधीक्षण अभियन्ता विद्युत सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment