.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : बीडीसी की हत्या में 08 नामजद,01 गिरफ्तार,अन्य की तलाश जारी



मृतक बीडीसी सुरेंद्र

पुलिस छावनी में तब्दील रहा क्षेत्र, सड़क पर शव रख उच्च अधिकारियों को बुलाने की मांग हुई

आजमगढ़। निजामाबाद थाना क्षेत्र के नेवादा गांव में सोमवार की देर रात को क्षेत्र के बीडीसी सदस्य की गोली मार कर हत्या कर आरोपी फरार हो गये थे। इससे आक्रोशित लोगो ने तोडफोड व आरोपितों के वाहनों में आगजनी भी की थी । सूचना पर पहुंचे एसपी सहित कई थाने की पुलिस ने लोगो को समझा बुझा कर मामला शांत कराया और आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वसन दिया था।
निजामाबाद थाना क्षेत्र के नेवादा ग्राम निवासी सुरेंद्र यादव 35 पुत्र फौजदार यादव सोमवार की रात करीब साढ़े आठ बजे नेवादा चैराहे पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी । सुरेंद्र यादव की शटरिंग की दुकान नेवादा बाजार में है। वर्तमान समय में वह अपने गांव से क्षेत्र पंचायत सदस्य भी था।  उनकी हत्या के बाद गुस्साई भीड़ ने उपद्रवियों की दो बुलेट और एक होंडा शाइन मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया था। लेकिन समय रहते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाल लिया था। वहीं देर रात एसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि एक आरोपी संजय सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है और अन्य की तलाश में टीमें लगी हुई हैं । मृतक के भांजे शुभम यादव की लिखित तहरीर पर 8 लोगो के ऊपर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है । जिनके नाम मनोज सिंह, अमरजीत,राहुल,अमित यादव,गगन यादव, गोल्डी यादव,शालू सिंह, संजय सिंह है। वहीं पुलिस इस मामले में एक जमीनी विवाद में पैरवी करने और पंचायत चुनाव के एंगल से जांच कर रही है । बताया जा रहा है कि मृतक सुरेंद्र क्षेत्र पंचायत का चुनाव रिकॉर्ड मतो से जीता हुआ था और प्रधानी चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी थी। वही दूसरी ओर अभियुक्त के पक्ष के तरफ से भी चुनाव लड़ने की मंशा थी। बीती रात घटना के बाद हुई तोड़फोड़ और आगजनी से मामले की संवेदनशीलता समझते हुए मंगलवार की सुबह ही प्रशासन ने इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया था । चप्पे चप्पे पुलिस और आरएएफ के जवान तैनात थे । इसी बीच दिन में जब मृतक बीडीसी का शव एम्बुलेंस से पोस्टमॉर्टम के बाद लाया जा रहा था तो पहले सेन्टरवा बाजार मे शव सड़क पर रखकर परिजनों व ग्रामीणों ने जाम लगा दिया । वहां सुरक्षा की दृष्टि से भारी संख्या मे पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया था । मृतक के परिजन आर्थिक मदद , नौकरी व अपराधियो की जल्द गिरफ्तारी व मौके पर उच्च अधिकारियो के आने की मांग कर रहे थे । वहां से किसी तरह मामला आगे बढ़ा तो एक बार फिर नेवादा में शव रख कर जाम लगा दिया गया जहां एडीम और एसपी सिटी द्वारा मदद का आश्वासन दिया गया तो जाम समाप्त हुआ।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment