.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : कोविड-19 कन्ट्रोल रूम को प्रभावी रूप से संचालित करने को डीएम ने की बैठक

कोरोना मरीज के कन्टैक्ट ट्रेसिंग में जो लोग आयेंगे उसकी सूची एडीएम प्रशासन को रोज उपलब्ध कराएं 

होम क्वारंटाइन किया गया कोई भी बाहर निकलेगा तो एप्प से उसकी लोकेशन ट्रेस हो जाएगी - राजेश कुमार ,डीएम 

आजमगढ़ 16 जुलाई-- जिलाधिकारी राजेश कुमार द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 महामारी से बचाव के दृष्टिगत स्थापित किये गये कन्ट्रोल रूम को प्रभावी रूप से संचालित किये जाने के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने समस्त एमओआईसी को निर्देश दिये कि कोरोना पाजीटिव मरीज के कन्टैक्ट ट्रेसिंग में जो भी व्यक्ति आयेंगे उसकी सूची अपर जिलाधिकारी प्रशासन को प्रतिदिन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे, इस कन्टैक्ट ट्रेसिंग की सूची को कन्ट्रोल रूम में भेजी जायेगी।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को निर्देश दिये कि जो भी व्यक्ति कोरोना पाजीटिव मरीज के कन्टैक्ट ट्रेसिंग में आने के बाद होम क्वारंटाइन किये गये हैं, उन पर प्रभावी नियंत्रण करने के लिए मोबाइल ऐप बनाया गया है, मोबाइल ऐप का लिंक एसएमएस के माध्यम से कन्टैक्ट ट्रेसिंग में आये हुए व्यक्तियों के मोबाइल पर भेजा जायेगा, होम क्वारंटाइन किये गये व्यक्ति यदि बाहर निकलते हैं तो ऐप के माध्यम से उक्त व्यक्तियों का लोकेशन ट्रेस हो जायेगा, ऐसे व्यक्तियों पर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि पाजीटिव मरीज के कन्टैक्ट ट्रेसिंग में आये हुए व्यक्ति किन-किन व्यक्तियों से मिले हैं, उनकी भी कन्टैक्ट ट्रेसिंग की जायेगी।
उन्होने बताया कि जनपद में किसी भी कोरोना पाजीटिव व्यक्ति की रिपोर्ट आने पर इसकी सूचना सबसे पहले कन्ट्रोल रूम को प्राप्त होगी, उसके बाद कन्ट्रोल रूम के माध्यम से संबंधित एमओआईसी को तुरन्त सूचित किया जायेगा और 01 घण्टे के अन्दर एम्बूलेंस के द्वारा संक्रमित व्यक्ति को अस्पताल भेज दिया जायेगा। इसी के साथ ही पाजीटिव आये हुए व्यक्ति के संबंधित क्षेत्र के आशा एवं अध्यापक को भी इसकी सूचना भेजी जायेगी एवं इनके द्वारा मरीज की कन्ट्रैक्ट हिस्ट्री को ट्रेस कर गूगल शीट पर भरी जायेगी, जिसमें हाई रिस्क/रेड जोन एरिया में-परिवार के सदस्यों की सैम्पलिंग तुरन्त की जायेगी, मीडियम रिस्क में-बाहर के लोग जो संक्रमित व्यक्ति से क्लोज कन्टैक्ट में आये हैं उनकी सैम्पलिंग की जायेगी तथा लो रिस्क में-जो व्यक्ति दूर से कन्टैक्ट में आये हैं या जहाॅ पर संक्रमित व्यक्ति कुछ समय के लिए गया हो, उनको होम क्वारंटाइन किया जायेगा। जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देश दिये कि कोरोना संक्रमण की बढ़ती हुई संख्या को देखते हुए फैसिलिटी क्वारंटाइन सेन्टर बनाये जाने के लिए स्थानों को चिन्हित कर लें, जिन स्थलों पर फैसिलिटि क्वारंटाइन सेन्टर बनाया जाना है, उसमें यह भी सुनिश्चित कर लें कि उसमें सीसी टीवी कैमरा, बिजली, शौचालय, खाने-पीने की व्यवस्था आदि अन्य जरूरत से संबंधित व्यवस्थायें कर ली गयी हैं। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि 03 दिन के अन्दर 50 बेड की क्षमता का बनाये जाने वाले फैसिलिटी सेन्टर को पूर्ण करायें। इसी के साथ ही उन्होने यह भी निर्देश दिये कि एल-1 अस्पताल में लगे हुए स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक/कर्मचारी एवं बनाये जा रहे फैसिलिटी क्वारंटाइन सेन्टर में लगाये जाने वाले कर्मचारियों की सूची कन्ट्रोल रूम में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। कोरोना पाजीटिव मरीजों के बढ़ने से कन्टेनमेंट जोन में भी बढ़ोत्तरी हो रही है, इसके दृष्टिगत जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन व एसपी सिटी को निर्देेश दिये कि कन्टेनमेंट पर प्रभावी नियंत्रण बनाये जाने के लिए एसओपी बनायें, जिससे कि कन्टेनमेंट जोन के अन्दर व बाहर कोई भी व्यक्ति न जा सके। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देश दिये कि जिन व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन किया गया है, यदि उन व्यक्तियों के घर में जगह नही है तो उनको फैसिलिटी क्वारंटाइन सेन्टर में भर्ती करायें।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, सीआरओ हरी शंकर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गुरू प्रसाद, सीएमओ डाॅ0 एके मिश्रा, एसपी सिटी, एसपी ट्रैफिक, सीओ सिटी ईला मारन, एसीएमओ डाॅ0 वाईके राय, प्राचार्य डायट अमरनाथ राय सहित समस्त संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment