.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

महामारी के संकट में पीएम मोदी का 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' महत्त्वपूर्ण है -कामेश्वर सिंह

भाजपा प्रदेश मंत्री ने ऑनलाइन प्रेस वार्ता कर मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाई 

आजमगढ़ : भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह ने शुक्रवार को ऑनलाइन प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार देशवासियों की आशाओं - आकांक्षाओं की पूर्ति करते हुए तेज गति से आगे बढ़ रहे थी कि वैश्विक महामारी कोरोना ने भारत को भी घेर लिया।कुछ लोगों ने आशंका जताई थी कि जब कोरोना भारत पर हमला करेगा तो भारत पूरी दुनिया के लिए संकट बन जाएगा। लेकिन आज देशवासियों ने यह सिद्ध करके दिखा दिया है कि विश्व के सामर्थ्यवान और सम्पन्न देशों की तुलना में भारतवासियों का सामुहिक सामर्थ्य और क्षमता अभूतपूर्व है। इतने बड़े संकट के समय में तकलीफ और असुविधा होना सामान्य बात है। हमारे श्रमिक साथी, प्रवासी मजदूर, छोटे उद्यमियों, रेहड़ी ठेला लगाने वाले, दुकानदार सभी ने कष्ट झेले हैं। इनकी परेशानी दूर करने के लिए सभी मिलकर प्रयास कर रहे हैं। पिछले एक साल में अनुच्छेद 370 और 35 अ को समाप्त करने , भगवान श्रीराम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ हुआ, तीन तलाक़ कानून बना और नागरिकता संशोधन कानून जैसे ऐतिहासिक कार्य हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में आत्मनिर्भर भारत अभियान न केवल कोविड-19 महामारी संकट से लड़ने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है बल्कि एक आधुनिक भारत की पहचान भी बन रहा है। एक ओर आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत सुक्ष्म लघु और मध्यम उद्योगों के कल्याण के लिए सोलह योजनाएं लागू की गई है वहीं दूसरी ओर गरीबों, दलितों, श्रमिकों और किसानों के लिए भी कई कदम उठाए जा रहे हैं। जिससे हर क्षेत्र में विकास की एक नई कहानी लिखी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा आह्वाहन किया गया " वोकल फार लोकल एण्ड मेक इट ग्लोवल" का अभियान देश को प्रत्येक क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाएगा। जिससे स्थानीय व्यवसायी और उद्यमी सशक्त बनेंगे। पीएम किसान सम्मान निधि के दायरे में देश का प्रत्येक किसान आ चुका है। बीते एक वर्ष में इस योजना के तहत 9 करोड़ 50 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में 72 हजार करोड़ रुपए से अधिक राशि जमा कराई गई है। हमारे 50 करोड़ से अधिक पशुधन के बेहतर स्वास्थ्य के लिए मुफ्त टिकाकरण का बहुत बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। देश के इतिहास में यह पहली बार हुआ है जब किसान, मजदूर , छोटे दुकानदार और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों सभी के लिए 60 वर्ष की आयु के बाद 3 हजार रुपए की नीयमित मासिक पेंशन की सुविधा सुनिश्चित हुई है। व्यापारियों की समस्याओं के समय पर समाधान के लिए व्यापारी कल्याण बोर्ड के निर्माण का निर्णय लिया गया है। आदिवासी बच्चों की शिक्षा को ध्यान में रखते हुए देश में 450 से ज्यादा एकलव्य माडल आवासीय स्कूलों के निर्माण का अभियान भी शुरू किया गया है। देश के 80 करोंड़ गरीबों एवं प्रवासी मजदूर परिवारों को लाकडाउन में राहत देने के लिए सरकार ने अप्रैल,मई जून के लिए मुफ्त राशन दिया जिसे अब गरीब कल्याण योजना को नवम्बर तक बढ़ा दिया गया है जिसमें गरीबों को 5 किलो अनाज प्रति यूनिट और एक किलो चना/दाल मुफ्त दिया जा रहा है।प्रवासी मजदूरों को मदद पहुंचाने हेतु वन नेशन वन राशनकार्ड की सुविधा मोदी सरकार द्वारा शुरू की जा रही है। मनरेगा योजना में रोजगार बढ़ाने के लिए सरकार ने इसमें 40000 करोंड़ रुपए की अतिरिक्त राशि देने का ऐलान किया है जो पहले से 66% अधिक है। देश के गांवों में स्थाई बुनियादी ढांचा तैयार करने और रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20जून को गरीब कल्याण रोजगार योजना की शुरुआत की साथ ही 20050 करोड़ रुपए के अनुमानित निवेश के साथ प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना को सरकार ने मंजूरी दे दी।
प्रेस वार्ता में जिलाध्यक्ष ध्रुव सिंह, जिला मीडिया प्रभारी विवेक निषाद और जिला आई टी संयोजक अभिनव श्रीवास्तव भी सहायक मीडिया प्रभारी अवनीश चतुर्वेदी मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment