.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मंडलीय कारागार परिसर में बनी अस्थाई जेल में पहले 21 दिन रखे जाते हैं नए बंदी - जिलाधिकारी

21 दिन पूर्ण होने के बाद ही उन्हें अस्थाई कारागार से निकाल कर मुख्य जेल में रखा जाता है- राजेश कुमार, डीएम  

आजमगढ़ : जिलाधिकारी राजेश राजेश कुमार ने बताया कि कुछ समाचार माध्यमों में इस प्रकार की सूचना प्रकाशित हो रही है कि मंडलीय कारागार इटौरा में कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि जिले में जबसे कोरोना के केस आने प्रारंभ हुए, उसी समय से मंडलीय कारागार परिसर में नये बंदियों को रखने के लिए अस्थाई जेल बनाया गया है।
उन्होंने बताया कि जब कोई नया बंदी मंडलीय कारागार में आता है तो सबसे पहले उसे नये बंदियों के लिए बनाए गए अस्थाई जेल में 21 दिन के लिए रखा जाता है। जब बंदी को अस्थाई जेल में 21 दिन के अंदर कोरोना संक्रमण का कोई लक्षण नहीं आता है, तो 21 दिन पूर्ण होने के बाद उन्हें अस्थाई कारागार से निकाल कर मंडलीय कारागार के मुख्य जेल में रखा जाता है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में कोरोना के जो भी पॉजिटिव केस पाए गए है, वह नये बंदियों के लिए बनाए गए अस्थाई कारागार के हैं। वर्तमान समय में मुख्य जेल में कोरोना का कोई पॉजिटिव बंदी नहीं है। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment