.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़ : मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी हुईं सेवानिवृत्ति, दी गयी भावभीनी विदाई

कार्यों के प्रति समर्पित मण्डलीय अधिकारियों एवं कार्यालय स्टाफ की कार्यशैली अतिउत्तम एवं सराहनीय रही हैः मण्डलायुक्त

मण्डलायुक्त के मार्ग दर्शन में कार्य करना सुखद अनुभूति, भविष्य में शासकीय कार्यों के सुचारु सम्पादन में उपयोगी सिद्ध होगा : अपर आयुक्त

आज़मगढ़ 30 जून -- मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी की सेवानिवृत्ति के अवसर पर मंगलवार को उनके कार्यालय के सभागार कार्यालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों तथा अन्य मण्डलीय अधिकारियों द्वारा शाल, मोमेन्टो, बुकें आदि भेंट कर उन्हें भावभीनी विदाई दी गयी तथा उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। विदाई समारोह को सम्बोधित करते हुए मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने कहा कि मण्डलायुक्त के पद पर कार्यरत रहते हुए उन्होंने जो भी कार्य किया वह उससे पूरी तरह सन्तुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि प्रायः गरीब और असहाय लोग अपनी समस्यायें लेकर उनके पास आते थे जिनका सम्यक निस्तारण किया जाना अति आवश्यक होता था। ऐसे अधिकांश मामलों में मण्डलीय अधिकारियों के स्तर से जाॅंच करा कर उनकी समस्याओं का निराकरण किया गया है। श्रीमती त्रिपाठी ने कहा कि मण्डलीय अधिकारियों ने जिस कुशलता और तन्मयता के साथ सौंपे गये कार्यों का समयवद्ध निस्तारण किया है वह सराहनीय है। उन्होंने मण्डलीय अधिकारियेां के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस मण्डल में जितने भी मण्डलीय अधिकारी कार्यरत हैं वह टीम भावना के साथ कार्यों के प्रति पूरी तरह समर्पित हैं। उन्होंने विशेष रूप में अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र के कार्यों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि भूमि विवाद से सम्बन्धित मामलों के निस्तारण में इनकी सटीक जाॅंच काफी सराहनी रही है, जिससे भूमि विवाद का निस्तारण समयवद्ध रूप से हुआ है। इसके साथ ही उन्होंने अपने कार्यालय के कर्मचारियों द्वारा निष्पादित कार्यों को भी सराहनीय बताया।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने विदाई समारोह के दौरान उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आहवान किया कि कार्यों के प्रति पूर्व की भांति समर्पण की भावना बनाये रखें। उन्होंने कहा कि जो भी फरियादी अपनी समस्याओं को लेकर उनके पास आते हैं तो पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ उनकी समस्याओं के निस्तारण हेतु प्राथमिकता के आधार पर ध्यान दें, यह आप लोगों का नैतिक कर्तव्य है, इसके अलावा समस्याग्रस्त व्यक्ति की सारी उम्मीदें आप लोगों पर केन्द्रित होती हैं, इसलिए उन्हें किसी भी दशा में मायूस न किया जाय। समारोह को सम्बोधित करते हुए अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र ने कहा कि मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी के मार्ग दर्शन में कार्य करना एक सुखद अनुभूति रही है तथा उनके द्वारा समय समय पर किया गया मार्ग दर्शन भविष्य में शासकीय कार्यों के सुचारू रूप से सम्पादन में काफी मददगार सिद्ध होगा। कार्यक्रम को अपर आयुक्त वंश बहादुर वर्मा, संयुक्त विकास आयुक्त पीएन वर्मा, संयुक्त कृषि निदेशक एसके सिंह, उप आबकारी आयुक्त एसपी चैधरी, उप निदेशेक समाज कल्याण सुरेश चन्द, शासकीय अधिवक्ता ओम प्रकाश पाण्डेय, अनिल सिंह, विनोद कुमार त्रिपाठी आदि ने भी सम्बोधित करते हुए मण्डलायुक्त के एक वर्ष 19 दिन के कार्यों की खुले मन से प्रशंसा करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना किया। कार्यक्रम का संचालन अपर सांख्यिकीय अधिकारी सुनील कुमार प्रजापति ने किया, इस अवसर पर कवि आचार्य पंडित सहदेव पाण्डेय सांकृत्यायन, पंडित जन्मेजय पाठक आदि ने अपनी रचनाओं के माध्यम से मण्डलायुक्त को भावभीनी विदाई दी। यह भी उल्लेखनीय है कि मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी की सेवानिवृत्ति के साथ ही कार्यालय सहायक राम दुलार (ट्रेसर) भी मंगलवार को सेवानिवृत्त हुए हैं, जिन्हें उपस्थित सभी अधिकारियों के साथ ही कार्यालय के कर्मचारियों प्रशासनिक अधिकारी अरुण कुमार त्रिपाठी, राजेश यादव, विजय प्रकाश सिंह, अनिल कुमार मौर्य आदि द्वारा शाल, अंगवस्त्र, बुकें, आदि भेंट कर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की गयी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment