.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: दहेज दानवों ने कार के लिए विवाहिता और मासूम बेटे को मार कर फंदे पर लटकाया था

दीदारगंज थाना क्षेत्र  धरहरा गांव में फंदे पर लटकी मिली थी माँ -बेटे की लाश, पुलिस ने पति, सास और ससुर को गिरफ्तार किया  

आजमगढ़ : दहेज में कार न मिलने के विवाद में ससुरालियों ने बहु गुंजन यादव और उसके 11 माह के बेटे आर्यन की हत्या कर दी और दोनों की लाश को एक ही फंदे में लटका दिया था। जांच में इसका खुलासा होने पर पुलिस ने पति विकास यादव, ससुर रामअचल यादव और सास प्रमिला देवी को पाल्थी बाजार के पास से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। घटना दीदारगंज थाना क्षेत्र के धरहरा गांव की है। वारदात 24 मई को हुई थी। एसपी त्रिवेणी सिंह के मुताबिक 24 मई को गांव निवासी गुंजन देवी और उसके 11 माह के बेटे आर्यन की लाश घर में एक ही फंदे से लटकती मिली थी। घटना के संबंध में गुंजन के भाई जौनपुर जिले के खुटहन थाने के बनुआडीह गांव निवासी अनिल यादव पुत्र श्रीचंद यादव ने दहेज के लिए बहन और भांजे की हत्या किए जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने केस दर्ज छानबीन शुरू की। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों की हत्या किए जाने की बात सामने आई थी। जांच के दौरान पता चला कि विकास यादव और गुंजन की शादी के बाद से ही दहेज में कार की मांग करते हुए झगड़ा हो रहा था। इसको लेकर दोनों पक्षों में कई बार पंचायत भी हुई थी। पुलिस जांच और सबूत के आधार पर बुधवार को पल्थी बाजार के पास से तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दी। एसपी ने बताया की क्राइम सीन देखकर पहले ही पुलिस को डबल मर्डर का भान हो गया था लेकिन जरूरत सबूत की थी। गुंजन (मां) का घुटना जमीन को छू रहा था और बेटा आर्यन मां के सीने पर अटका था। आत्मघाती कदम में ऐसा संभव नहीं होता। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों के मरने के समय में अंतर ने पुलिस को क्लू दे दिया। जब आरोपियों को पकड़ कर सख्ती की गई तो उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया। पूछताछ में बताया कि पहले एक साल के बेटे को गला दबाकर मारा फिर विवाहिता को फंदे पर लटकाते समय मासूम का गला भी उसी रस्सी में फंसा दिया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment