.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

डीएम ने लावारिश/निराश्रित जानवरों के खाने की व्यवस्था की अपील किया

जानवर भी मनुष्य के आस-पास, मुहल्लों में रहता है, उनके भूख की चिन्ता भी हमें होनी चाहिए-डीएम

जिलाधिकारी ने जनपदवासियों से की अपील

आजमगढ़ 02 अप्रैल-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने जनपद के सभी नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों से अपील किया है कि इस आपदा की घड़ी में प्रशासन यह प्रयास कर रहा है कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। इस प्रयास की कड़ी में एक ऐसा वर्ग भी है जो अछूता रहा जा रहा है, ऐसे अछूते वर्ग जिसमें बन्दर, कुत्ता एवं निराश्रित पशु शामिल हैं। ये कहीं न कहीं अछूता रहा जा रहा है, ये सभी जानवर भी मनुष्य के साथ ही उनके आस-पास, मुहल्लों में रहता है, उनके भूख की चिन्ता भी हमें होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा है कि बन्दर एवं कुत्ते मुहल्लों एवं मंदिरों के आस-पास घूमते रहते हैं। चाय एवं खान-पान की दुकानें व होटल एवं मंदिरों के बन्द होने के कारण ये जानवर भी भूखमरी का शिकार हो रहे हैं और इस अवस्था में वे आक्रामक भी हो सकते हैं। जिलाधिकारी ने जनता से अपील किया है कि जो लोग सक्षम हैं वे अपने मुहल्लों में अपने आस-पास से अपने खाने के हिस्से से थोड़ा हिस्सा इन्हें भी दें, जिससे इनकी क्षुधापूर्ति हो सके तथा मंदिर के बाहर जो बंदर हैं उनके लिए तहसीलदार एवं उप जिलाधिकारी से सम्पर्क कर उनके भी खाने की व्यवस्था कर सकते हैं। जिलाधिकारी ने समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायतों को निर्देश दिये कि लावारिश पशुओं को पशु आश्रय स्थल में भेजकर उनके चारे की व्यवस्था सुनिश्चित करें। यदि नगर क्षेत्र में कुत्तों एवं अन्य जानवरों के खाने की व्यवस्था करनी हो तो इसके लिए अपर जिलाधिकारी प्रशासन से सम्पर्क करें तथा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए मुख्य पशु चिकित्साधिकारी से सम्पर्क करें।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment