.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : नाटकीय घटनाक्रम में कलक्ट्रेट मेंप्रार्थना पत्र देने आया युवक पुलिस हिरासत में

पकड़ा गया व्यक्ति तरवा थाने के सरायभादी गांव में चार दिन पूर्व हुई फायरिंग में नामजद आरोपी है 

हिरासत में आये आरोपी से पूछताछ के बाद  नए सिरे से जांच की जा रही है- एन पी सिंह,एसपी ग्रामीण  

आजमगढ़ : मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर के सामने ही नाटकीय स्थिति उत्पन्न हो गई जब डीएम के यहाँ फरियादी के रूप में आये इस व्यक्ति और पुलिस के बीच धरपकड़ का खेल सामने आया। पुलिस ने जब उसे काबू में किया तो पता चला की उक्त व्यक्ति तरवा थाने के सरायभादी गांव में चार दिन पूर्व हुई फायरिंग में नामजद आरोपी है और मंगलवार को न्याय के लिए कलक्ट्रेट में अधिकारियों को प्रार्थना पत्र देने आया था । इसकी भनक लगते ही पुलिस ने उसे कलक्ट्रेट से हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उसने बताया कि घटना में वह शामिल नहीं था। गोली लगने से घायल व्यक्ति ने उसे फंसाने के लिए खुद को गोली मार ली थी। इस पर पुलिस अब नए सिरे से मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीँ इस सब घटनाक्रम के दौरान उसके द्वारा हाथ में ली हुई एक शीशी की चर्चा भी आयी की वह जहर खा कर आत्महत्या करने वाला था लेकिन एसपी ग्रामीण ने इस तरह की बात का खंडन किया है।
तरवा थाने के सरायभादो गांव के पास 12 मार्च की रात में हुई फायरिंग में सरायभादों गांव निवासी नामनवल यादव पुत्र सुबेदार यादव पैर में गोली लगने से घायल हो गया,जिसका अभी भी इलाज जारी है। घायल रामनवल के भाई रामाश्रय यादव की तहरीर पर तरवा थाने की पुलिस ने अगले दिन गांव के राधेश्याम यादव,वैभव यादव पुत्रगण रमाशंकर यादव, अभिषेक यादव पुत्र रामसरन यादव, रामसरन यादव,स्वार्थ यादव पुत्रगण कुमार यादव और कौशल यादव पुत्र बालशरण यादव के खिलाफ एक राय हो कर जान मारने की नीयत से गोली मारने के आरोप में धारा 147,148,149,506 और 307 के तहत मुकदमा दर्ज किया। नामजद आरोपियों में शामिल राधेश्याम यादव अपने आप को निर्देश साबित करने के लिए मंगलवार को कलक्ट्रेट में जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देने के लिए आया था। इसकी भनक लगते ही तरवा थाने की पुलिस ने उसे नाटकीय ढंग से हिरासत में ले लिया।
एसपी ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सरायभादों गांव में हुई फायरिंग की घटना में राधेश्याम यादव पर नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है। वह डीएम और एसपी को प्रार्थना पत्र देने के लिए आया था। पूछताछ में उसने बताया कि गोली लगने से घायल रामनवल के परिवार से उसकी पुरानी दुश्मनी चली आ रही है। साजिश के तहत रामनवल ने खुद को गोली मार कर फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि हिरासत में लिए गए आरोपी से पूछताछ के बाद घटना की नए सिरे से जांच की जा रही है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment