.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : दगाबाज़ प्रेमी के चलते फूलपुर की महिला आरक्षी ने की थी आत्महत्या

बैंक अधिकारी ड्राइवर ने युवती से खुद को बताया था बैंक प्रबंधक, शादी से किया था इंकार 

चार सालों से धोखे में रख कर मृतका का किया था आर्थिक,शारीरिक व मानसिक शोषण   

आजमगढ़ : फूलपुर कोतवाली की पुलिस ने महिला आरक्षी की आत्महत्या के लिए जिम्मेदार उसके दगाबाज  प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। महिला आरक्षी प्रेमी से शादी करना चाहती थी। यही नहीं उसने स्कार्पियो खरीदने के लिए लोन पर पांच लाख रुपये उस प्रेमी को दिया था । प्यार में धोखा मिलने पर महिला आरक्षी ने कुछ दिन पूर्व फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी।
एसपी ग्रामीण एन  पी सिंह ने मंगलवार को खुलासा किया की आरोपी प्रेमी अविनाश कुमार पुत्र लल्लन राम निवासी बालाजी एक्सटेंशन, लंका वाराणसी में रहता है, मूल रूप से वह जौनपुर जनपद के केराकत थाना क्षेत्र के अकबरपुर का निवासी है। वह बैंक ऑफ बड़ौदा इंडस्ट्रियल स्टेट माणवाडी चांदपुर वाराणसी के उप महा प्रबंधक की निजी गाड़ी का चालक है। इसी बैंक में चंदौली जनपद की महिला आरक्षी चार साल पूर्व अविनाश के संपर्क में आयी थी। मामूली पढ़ा लिखा अविनाश स्वयं को बैंक का प्रबंधक बताता था। महिला आरक्षी अपनी मां भाई के साथ वाराणसी में रह कर पढ़ाई करती थी और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही थी। मुलाकात के बाद दोनों एक दूसरे का नम्बर लिए और बातें करने लगे। दोनों में नजदीकियां बढ़ती गई। दो साल पूर्व युवती का चयन महिला आरक्षी पद पर हो गया। ट्रेनिंग पूरी करने के बाद महिला आरक्षी की तैनाती आजमगढ़ के फूलपुर कोतवाली में हो गई। जहाँ इसी युवक के मिलने जुलने के चलते वह एक निजी भवन में कमरा ले कर रहती थी। घटना की जानकारी देते हुए एसपी ग्रामीण एनपी सिंह ने बताया कि अविनाश से वह शादी करना चाहती थी। अविनाश शादी नहीं करना चाहता था। जिसे लेकर दोनों में विवाद बढ़ गया था। प्यार में धोखा मिलने पर महिला आरक्षी ने सात फरवरी की शाम फांसी लगा कर जान दे दी थी।  पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला आरक्षी के पेट में भ्रूण होने की पुष्टी हुई है। जिसे जांच के लिए भेजा गया है। अभियुक्त का भी डीएनए टेस्ट कराया जाएगा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment