.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : पूर्व सांसद रामकृष्ण यादव की शवयात्रा में उमड़ा सैलाब

लोकसभा चुनाव 1989 में बसपा से जिले के पहले सांसद रहे हैं रामकृष्ण यादव, 1998 से सपा में थे 

आजमगढ़ : लोकसभा चुनाव 1989 में बसपा से जिले के पहले सांसद राम कृष्ण यादव की शवयात्रा में रविवार को हजारों लोगों ने शामिल होकर अंतिम विदाई दी। उनका लंबी बीमारी के बाद लखनऊ में निधन हो गया था। अंतिम संस्कार रविवार को दुर्वासा धाम पर किया गया।
पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व राज्यपाल स्व. राम नरेश यादव के चचेरे छोटे भाई राम कृष्ण यादव का जन्म 27 जनवरी 1937 को फूलपुर तहसील क्षेत्र के आंधीपुर गांव में हुआ था। उनकी प्राथमिक शिक्षा अम्बारी, हाईस्कूल गयादीन जायसवाल इंटर कॉलेज खुरासो, इंटरमीडिएट सेंट थॉमस इंटर कॉलेज शाहगंज, जौनपुर तथा स्नातक और एलएलबी की शिक्षा बनारस हिदू विश्वविद्यालय से पूर्ण की थी। छात्र जीवन से ही मा‌र्क्सवादी विचारों से प्रभावित रहे और वकालत करते हुए मा‌र्क्सवादी पार्टी में शामिल हुए। फूलपुर विधानसभा से चुनाव भी लड़े। बाद में कांशीराम के संपर्क में आए। इसके बाद 1989 में आजमगढ़ से बसपा से जिले के पहले सांसद चुने गए। बाद में 1998 में सपा में आए और हमेशा अपने मौलिक विचारों की वजह से जाने गए।
उनके अंतिम संस्कार में पूर्व मंत्री बलराम यादव, पूर्व मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा, पूर्व सांसद बलिहारी बाबू, विधायक आलम बदी, पूर्व सांसद रमाकांत यादव, पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, सपा निवर्तमान जिलाध्यक्ष हवलदार यादव, अजय नरेश यादव, डा. सुभाष यादव, राजेश यादव, प्रधान संजय यादव, वीरेंद्र यादव, परशुराम यादव, आशुतोष विक्रम, डा. उदयभान यादव आदि ने अंतिम विदाई दी। परिवार में छोटे भाई बालकृष्ण, पुत्र मनोज यादव, अजय यादव एवं एक पुत्री अलका हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment