.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: वरिष्ठ साहित्यकार एवं समाजसेवी इंजीनियर राम नयन शर्मा का निधन,शोक की लहर

स्व0 राम नयन शर्मा विभिन्न संगठनों से जुड़ कर देश-प्रदेश में अपनी सेवा व् समाज के प्रति ज़िम्मेदारी में महत्वपूर्ण भागीदारी के लिए जाने जाते रहे हैं 

आजमगढ़ : नगर के आरजीबाग निवासी वरिष्ठ साहित्यकार एवं समाजसेवी इंजीनियर राम नयन शर्मा का हृदय गति रुकने से मंगलवार को आकस्मिक निधन की खबर से जनपद में शोक की लहर फैल गई। स्वर्गीय शर्मा अपने उत्कृष्ट सामाजिक कार्य और विभिन्न संगठनों से जुड़ कर देश-प्रदेश के दूरदराज के क्षेत्रों में अपनी सेवा व् समाज के प्रति ज़िम्मेदारी में महत्वपूर्ण भागीदारी के लिए जाने जाते रहे है। इंजीनियर रामनयन शर्मा को उनकी सेवा व् कर्तव्य निष्ठां के लिया राष्ट्रपति के हाथो सम्मानित भी किया गया था।
आजमगढ़ के कंधरापुर थाना क्षेत्र के दुबरहन बुजुर्ग गांव के मूल निवासी इंजीनियर राम नयन शर्मा वाराणसी में सिचाई विभाग में सेवा देने के बाद सेवानिवृत हुए थे सेवा कल के दौरान उन्हें महामहिम राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित भी किए जा चुके हैं। 85 वर्ष की आयु में उन्होंने आजमगढ़ शहर के आरजीबाग स्थित अपने आवास पर अंतिम सांस ली। मंगलवार की भोर में अचानक हृदय गति रुकने से उनका निधन हो गया। उनके परिवार में उनके 3 पुत्र हैं, जिसमें सबसे बड़े पुत्र देशेन्द्र शर्मा दूसरे नंबर पर हेमेंद्र शर्मा तथा तीसरे छोटे पुत्र वेदेंद्र प्रताप शर्मा आजमगढ़ में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से जुड़े पत्रकार हैं,दुखद समाचार मिलते ही विभिन्न संगठनों, समाजसेवियों व पत्रकार जगत में शोक की लहर व्याप्त हो गई और बड़ी संख्या में पत्रकारों ने उनके अंतिम दर्शन के लिए इकट्ठा होकर ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना की है। घटना की जानकारी होते ही समाज के साहित्यकार एवं बुद्धिजीवी वर्ग के लोगों का उनके आवास पर तांता लग गया। स्वर्गीय शर्मा कई पत्रिकाओं के प्रकाशन- पटना आजमगढ़, लखनऊ, भोपाल, नई दिल्ली सहित स्वयं द्वारा प्रेषित स्वरचित शोध के लिए समाज रत्न, शिल्पी, रत्न व्यास आदि उपाधि से विभूषित रहे हैं। उनके संस्था को ज्ञानी जैल सिंह राष्ट्रीय शिक्षा समिति द्वारा भी सम्मानित किया गया है। वर्तमान समय में भी वृद्धावस्था के बाद भी इनके ऊर्जा और समर्पण की भावना के लिए सभी लोग भूरी भूरी प्रशंसा करते रहे हैं। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भ्रष्टाचार उन्मूलन संघ दिल्ली के भी सदस्य रहे हैं। अध्यक्ष भारत विकास परिषद, संस्कार भारती, पतंजलि योग पीठ, विश्वकर्मा महासभा व ब्राह्मण महासभा आदि का दायित्व भी बखूबी निभाया था । मंगलवार शाम शहर के राजघाट पर अंतिम संस्कार मैं समाज के सभी वर्गों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। वाराणसी सिंचाई विभाग में इंजीनियर के पद से रिटायरमेंट होने के बाद से समाज सेवा में पूरी जिंदगी समर्पित किए रहे उनके इस समाज सेवा के सराहनीय कृत्य को लोग हमेशा याद रखेंगे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment