.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

सनसनीखेज खुलासा ! इस माँ के पास नहीं था कोई रास्ता,दुष्कर्मी पुत्र को उतारा मौत के घाट

रानी की सराय  क्षेत्र में 28 सितंबर को सुबह बोरे में 40 वर्षीय अज्ञात युवक का शव मिला 

बड़े बेटे की हरकतों से परेशान माँ ने छोटे बेटे संग मिल कर उसकी हत्या कर दी थी 

आजमगढ़ : कामवासना में अंधे मानसिक बीमार कलयुगी बेटे ने पहले छोटी बहनों की इज्जत लूटी और फिर अपनी मां पर ही गलत नजर डाली। बेटी की घिनौनी हरकत से तंग आकर मां ने अपने छोटे बेटे के साथ मिलकर अपने ही बड़े बेटे की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को बोरे में भरकर नहर किनारे फेंक दिया था। हत्यारोपी मां के साथ बेटे मीडिया के को गिरफ्तार कर पुलिस ने गुरुवार को सनसनीखेज घटना का खुलासा किया। महिला ने मीडिया के सामने अपनी आप बीती बताया।
रानी की सराय थाने के मोलनापुर (सिरसाल) गांव के नहर के बगल में झाड़ी में 28 सितंबर को सुबह बोरे में 40 वर्षीय अज्ञात युवक का शव पाया गया था । ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने अज्ञात शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था । अज्ञात पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की। इसबीच अज्ञात शव की शिनाख्त गंभीरपुर थाने के एक गांव के निवासी के रूप में की गई । इस पर रानी की सराय थाने की पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर बुधवार की रात मे मृतक के घर पर छापा मारा । उसकी मां और छोटे भाई को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। कड़ाई से पूछताछ की तो दोनों ने अपना जुर्म स्वीकार किया ।
एसपी आजमगढ़ प्रो0 त्रिवेणी सिंह ने बताया कि गिरफ्तार हत्यारोपी मां ने बताया कि उसके बड़े बेटे की शादी नहीं हुई थी। वह मानसिक बीमार था और कोई कामकाज नहीं करता था। घर पर ही निठल्ला बैठा रहता था। उसने पहले अपनी दो छोटी बहनों के साथ दुष्कर्म किया । इस पर मैने दोनों लड़कियों को ननिहाल में भेजा दिया था । बेटियों के घर पर न पाकर दुष्कर्मी बेटे ने एक दिन मेरे साथ भी दुष्कर्म करने पर उतारू हो गया था। उसकी घिनौनी हरकत से आजिज होकर मैंने खुद दुष्कर्मी बेटे को रात में नींद की गोली खिलाई और बाद में छोटे बेटे के साथ मिलकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। बाद में शव को बोरे मे बांध कर छोटे बेटे की मदद से साइकिल पर लाद कर दूसरे गांव के नहर की झाड़ी मे फेंक दिया था।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment