.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

किसी ने भी नहीं पूछा हाल तो आंदोलित किसानो ने सड़क पर प्रशासन की तेरही आयोजित किया

अतरौलिया में बन रहे गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे में भूमि का उचित मुआवजा मांग रहे हैं किसान 
शासन और प्रशासन द्वारा किसानों के साथ अन्याय कर रहा है - डॉ संग्राम यादव, विधायक 
आज़मगढ़ : अतरौलिया क्षेत्र में बन रहे गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के निर्माण में अधिग्रहीत जमीन का उचित मुआवजा ना मिलने पर किसान किसान पिछले कुछ दिनों से आंदोलित हैं। अतरौलिया के गदनपुर तिराहे के समीप एनएच 233 के किनारे चल रहे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन के तेरहवे दिन बड़ी संख्या में किसान क्षेत्रीय विधायक डॉक्टर संग्राम यादव कांग्रेस जिला अध्यक्ष हवलदार सिंह तथा कामरेड भारत सिंह, अखिल भारतीय किसान सभा उत्तर प्रदेश आगरा के साथ शामिल हुए । इस धरना प्रदर्शन में सैकड़ों किसान जहां दिन रात धरना स्थल पर बैठकर अपनी मांग मनवाने के लिए शासन, प्रशासन को मजबूर करने में लगे हैं। तो वही किसानों ने प्रशासन पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि अब तक कोई अधिकारी किसानों की सुध लेने नहीं आया। इसलिए हम सब प्रशासन को मरा हुआ मान कर जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी, मुख्य राजस्व अधिकारी और उप जिलाधिकारी बुढ़नपुर का प्रतीकात्मक तेरहवीं का आयोजन किया। क्षेत्रीय विधायक डॉक्टर संग्राम यादव ने कहा कि शासन और प्रशासन द्वारा किसानों के साथ अन्याय किया जा रहा है । सत्ता के मद में सरकार अंधी हो गई है । शासन प्रशासन को किसानों की पीड़ा नहीं सुनाई दे रही है । प्रशासन पूरी तरह से निरंकुश हो गया है। लेकिन सरकार की यह योजना सफल नहीं होगी । कांग्रेस जिलाध्यक्ष हवलदार सिंह ने कहा कि सरकार को भट्ठा पारसौल की घटना याद करनी चाहिए किसानों के हित के लिए हम लोग दलीय सीमा छोड़कर सरकार के खिलाफ एकजुट होकर संघर्ष करेंगे । प्रगतिशील समाज पार्टी के प्रदेश महासचिव फूलचंद यादव ने कहा कि किसान हित की बात करने वाली सरकार ही आज किसान की असली दुश्मन बन गई । किसानों का सरकार द्वारा शोषण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 2 सितंबर को हम लोग पूरी तैयारी के साथ आजमगढ़ फैजाबाद मुख्य मार्ग पर धरना प्रदर्शन करेंगे और रास्ता को जाम करेंगे। तेरही का कार्यक्रम सड़क पर आयोजित होने के कारण स्थानीय पुलिस द्वारा रूट डायवर्ट किया गया था । जिससे राहगीरों को काफी कठिनाइयों उठानी पड़ी । किसानों द्वारा प्रशासन को चेतावनी भी दी गई कि हम लोग जेल जाने के लिए भी तैयार है । इस मौके पर चंद्रशेखर यादव, हवलदार सिंह, लालसा राय, कामरेड भारत सिंह ,सुरेंद्र सिंह, देव नारायण मिश्रा, हरिकेश मिश्रा ,शीतला निषाद, चंद्रजीत यादव ,रामप्यारे यादव, मोहित यादव ,दिलीप सिंह ,जय गोविंद विश्वकर्मा,जगदीश पांडे, अमरनाथ पांडे, सूबेदार मिश्रा, हरिराम बागी, वेद प्रकाश मिश्रा, संतराम यादव, राधेश्याम यादव ,पप्पू यादव ,संतराम यादव, जय नारायण यादव, सुरेश मिश्रा, रणजीत राजभर, नरसिंह सिंह, मुरारी सिहं,राजबहादुर सिंह, बड़ी संख्या सहित में किसान मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment