.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

सावन मास एवं आगामी त्योहारों में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने को डीएम दिए निर्देश

कांवड़ मार्ग पर क्षतिग्रस्त सड़कें 17 जुलाई से पहले सही कर लिया जाए -जिला मजिस्ट्रेट

क्षेत्राधिकारी शांति समिति की बैठकें कर, शांतिपूर्ण माहौल में त्योहारों को संपन्न कराना सुनिश्चित करें

आजमगढ़ 11 जुलाई-- जिला मजिस्ट्रेट नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने बताया है कि हर वर्ष की भाॅति इस वर्ष श्रावण मास 17 जुलाई 2019 से प्रारम्भ होकर दिनांक 15 अगस्त 2019 को समाप्त हो रहा है। इस माह का मुख्य पर्व श्रावण शिवरात्रि (कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी) दिनांक 30 जुलाई 2019 को मनाया जाएगा। इसी दौरान दिनांक 12 अगस्त 2019 को ईद-उल-जुहा (बकरीद) का पर्व चंद्र दर्शन के अनुसार मनाया जाना संभावित है, दिनांक 15 अगस्त 2019 को श्रावण मास का अंतिम दिन तथा रक्षाबंधन का त्यौहार व स्वतंत्रता दिवस भी मनाया जाएगा।
उन्होने बताया कि दिनांक 22 जुलाई को श्रावण मास का प्रथम सोमवार, 29 जुलाई को श्रावण मास का द्वितीय सोमवार, 30 जुलाई को श्रावण शिवरात्रि, 5 अगस्त को श्रावण मास का तृतीय सोमवार/नाग पंचमी, 12 अगस्त को श्रावण मास का चतुर्थ सोमवार/ईद-उल-जुहा (बकरीद) तथा 15 अगस्त 2019 को श्रावण मास का समापन/रक्षाबंधन का पर्व/स्वतंत्रता दिवस का त्योहार पड़ रहा है।
उन्होने कहा कि श्रावण मास में शिवभक्त/कांवड़िये प्रदेश के विभिन्न स्थानों से गंगा एवं अन्य पवित्र नदियों से जल भरकर विभिन्न शिव मंदिरों में जलाभिषेक/ पूजा अर्चना करते हैं। श्रावण मास के दौरान शिवरात्रि के पर्व के 2 सप्ताह पूर्व ही शिव भक्तों का आवागमन प्रारंभ हो जाता है, जिससे भीड़ के कारण यातायात एवं अन्य कारणों से शांति व्यवस्था प्रभावित होने की प्रबल संभावना रहती है। इस बार दिनांक 12 अगस्त 2019 को श्रावण मास के सोमवार के साथ मुस्लिम समुदाय के प्रमुख त्योहार ईद-उल-जुहा (बकरीद) चंद्र दर्शन के अनुसार मनाया जाना संभावित है।
जिला मजिस्ट्रेट ने बताया है कि कांवड़ मार्ग पर जहां कहीं भी सड़कें क्षतिग्रस्त अथवा गड्ढायुक्त हो गई हों, उनकी तत्काल मरम्मत प्रारंभ कर दी जाए तथा यह सुनिश्चित किया जाए कि सड़कें दिनांक 17 जुलाई 2019 तक प्रत्येक दशा में आवागमन योग्य हो जाए। मार्गों पर प्रकाश का समुचित प्रबंध किया जाए तथा जिन स्थानों पर कांवरियों का ठहराव होता है वहां पर वैकल्पिक विद्युत आपूर्ति का भी प्रबंध किया जाए। मार्गों पर यातायात को बाधित करने वाले किसी भी प्रकार के अतिक्रमण आदि को चिन्हित कर पुलिस एवं प्रशासन की संयुक्त टीम द्वारा 17 जुलाई 2019 के पूर्व ही आवागमन हेतु सुचारू किया जाना सुनिश्चित किया जाए। नगरीय/ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित शिव मंदिरों/शिवालयों/धार्मिक स्थलों पर साफ सफाई की समुचित व्यवस्था कर ली जाए। सभी उप जिला मजिस्ट्रेट दिनांक 12 अगस्त 2019 को श्रावण के सोमवार, श्रावण शिवरात्रि तथा शिवालयों/मंदिरों पर लगने वाले मेलों के दृष्टिगत अपने-अपने क्षेत्राधिकारीगण के साथ अपने क्षेत्रान्तर्गत पड़ने वाले स्थानों पर शांति समिति की बैठक कर, सांप्रदायिक सद्भावना के साथ शांतिपूर्ण माहौल में त्योहारों का आयोजन कुशलता पूर्वक संपन्न कराना सुनिश्चित करें। समस्त उप जिला मजिस्ट्रेटगण अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत लगने वाले मेलों व कावड़ियों के ठहराव स्थल/शिव मंदिरों का निरीक्षण कर लें तथा इनके आयोजक मंडल से वार्ता कर उनकी समस्याओं का समाधान संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर तथा जन सहयोग के माध्यम से सुनिश्चित करा लें।
जिला मजिस्ट्रेट ने समस्त उप मजिस्ट्रेट, समस्त पुलिस क्षेत्राधिकारी तथा समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उपर्युक्त निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए, ताकि इसके कारण कावड़ यात्रा/ श्रावण शिवरात्रि/बकरीद/रक्षाबंधन के दौरान किसी भी प्रकार कानून एवं शांति व्यवस्था प्रभावित न होने पाए।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment