.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मतदेय स्थलों पर पानी,शौचालय,बिजली, रैम्प आदि व्यवस्था 3 दिन के अन्दर पूरा करें-जिलाधिकारी

आज़मगढ 31 मार्च -- जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी की अध्यक्षता में लोक सभा निर्वाचन के तैयारियों के सम्बन्ध में मतदेय स्थलों पर एएमएफ की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी द्वारा विधानसभावार मतदेय स्थलों पर पानी, शौचालय, बिजली, रैम्प, फर्नीचर की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने सम्बन्धित विधानसभा में जिन मतदेय स्थलों पर पानी, शौचालय, बिजली, रैम्प, फर्नीचर की व्यवस्था अभी तक नही हुआ है, वहां पर 3 दिन के अन्दर पूरा करा कर इसकी रिपोर्ट उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। 
उन्होने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जो फार्म-6 प्राप्त हो रहे है उसे जल्द से जल्द पेन्डेन्सी फार्मो को फीड कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कि बीएलओ के साथ बैठक भी कराये तथा मतदेय स्थलों के बारे में जानकारी प्राप्त करें।
उन्होने समस्त उप जिलाधिकारियों से कहा कि प्रत्येक विकास खण्डों में माॅडल बूथ बनाना है, माॅडल बूथ बनाने हेतु स्थानों का चिन्हांकन करे लें तथा खण्ड विकास अधिकारियों के साथ बैठक कर लें।
उन्होने कहा कि सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि क्रिटिकल/वलनरेबुल बुथों की सूची जल्द से जल्द उपलब्ध कराये, बूथ चार्ट की पुनः जांच कर लें तथा मतदेय स्थलों की संशोधन सूची अपडेट करा कर कल तक उपलब्ध करा लें। सेक्टर/जोन का मानचित्र बनाकर उपलब्ध कराये। उन्होने कहा कि दिव्यांग मतदाता के लिए व्हील चेयर तथा ब्रेललिपि की जितनी आवश्यकता है, उसकी बूथवार सूची बना ले तथा इसकी रिपोर्ट भी उपलब्ध करा दे।
जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन-जिन मतदेय स्थलों पर शौचालय बनना बाकी है उसे तत्काल पूरा कराये तथा कैमरा का भी व्यवस्था समय से करा ले।
उन्होने समस्त उप जिलाधिकारी/खण्ड विकास अधिकारी/ईओ नगर पंचायत/नगर पालिका को निर्देशित करते हुए कहा कि निर्वाचन के कार्यो में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नही की जायेगी। निर्वाचन से सम्बन्धित कार्यो को समय-सीमा के अन्दर करे।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी द्वारा निराश्रित गोवंश आश्रय स्थल की भी विकासखण्ड वार समीक्षा की गयी। विकास खण्ड कोयलसा, महराजगंज, तरवां, सठियांव, रानी की सराय तथा ठेकम एवं नगर पचायत अतरौलिया, मेंहनगर तथा माहुल में गौसाल संचालित नही है। जिला पर जिलाधिकारी ने उक्त खण्ड विकास अधिकारी तथा ईओ को निर्देशित करते हुए कहा कि गौसालाओं को जल्द से जल्द संचालित कराना सुनिश्चित करें। उन्होने खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि जिन गौशालाओं में शेड की आवश्यकता हो वहां शेड भी बनवाये।
उन्होने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि गौशाले में एक गढढ़ा गोबर तथा गोमुत्र को एकत्रित करने हेतु बनवाये तथा कृषि विभाग से गोबर व गोमुत्र से डि-कम्पोस्ट खाद की जानकारी प्राप्त करे और खाद को बनवाये। उन्होने डीएफओ तथा जिला उद्यान अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि गौशालाओं जो खाद बनेगी उसे निर्धारित दर से क्रय करेगे तथा उन्होने डीएफओ को निर्देशित दिए की लकड़ी का बुरादा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के माध्यम से गौशालओं को उपलब्ध करायेगे।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डी0एस0 उपाध्याय, मुख्य राजस्व अधिकारी हरि शंकर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त/राजस्व गुरू प्रसाद, समस्त उप जिलाधिकारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 वीके सिंह, डीसी मनरेगा वीवी सिंह, डीसी एनएलआरएम बीके मोहन, डीडी कृषि डा0 आरके मौर्य, बीएसए, जिला कृषि अधिकारी डा0 उमेश कुमार गुप्ता, जिला उद्यान अधिकारी बाल कृष्ण वर्मा, डीपीआरओ, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी बृजेश चन्द श्रीवास्तव, समस्त खण्ड विकास अधिकारी, सम्बन्धित ईओ नगर पंचायत/नगर पालिका सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment