.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

यह बजट किसानों के लिए ऊॅट के मुॅह में जीरा देने के समान है- पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, विधायक

समाजवादी पार्टी की मासिक बैठक में पार्टी पदाधिकारियों को बसपा पदाधिकारियों संग टीम बना जनता के बीच जाने के दिए गए निर्देश 

आजमगढ़। समाजवादी पार्टी की मासिक बैठक कलेक्ट्री कचहरी स्थित स0पा0 कार्यालय पर सम्पन्न हुई। बैठक को सम्बोधित करते हुए स0पा0 जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि भाजपा जुमले गढ़ने वाली व सपने दिखाने वाली पार्टी है। उसकी कथनी व करनी में जमीन आसमान का फर्क है। विगत पिछले चुनावों में उन्होंने जो वादे किये थे, एक भी पूरा नहीं हुआ बल्कि मॅहगाई, बेरोजगारी बढ़ी है। किसान, मजदूर भूखमरी के कगार पर है। दवा व पढ़ाई आम आदमी के पहुॅच से बाहर होती जा रही है। 5 साल में बेरोजगारी 1 प्रतिशत बढ़ गयी है। खाद, पानी, बिजली, कृषि यन्त्रों, खाद्य पदार्थाें के दाम चार गुना बढ़े हैं। बजट में इनको कम करने का कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने कहा कि पार्टी के पदाधिकारी ब0स0पा0 के पदाधिकारियों से तालमेल कर टीम बनाकर गावों में घर-घर जाकर जनता से भाजपा की किसान, मजदूर, संविधान, आरक्षण व रोजगार विरोधी साजिश को बेनकाब करें। तथा पिछड़े वर्ग में जहाॅ पर बैठकें नहीं हो पायी है वहाॅ पर बैठक कर पिछड़ों को आगाह करें। कार्यकर्ता गाॅव में घर-घर जाकर भाजपा के सन् 2014 में किये गये वादे 15 लाख खाते में डालने, 5 साल में 10 करोड़ नौकरी, किसानों के हित में स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू करने, मॅहगाई कम करने के बारे में पूॅछें। क्या अब तक किसी को कुछ मिला। सन् 2019 के चुनाव में भाजपा जैसी फासिवादी, साम्प्रदायिक व जातिवादी सरकार को उखाड़ फेंकना है।
पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव विधायक ने कहा कि यह पहली सरकार है जो परम्पराओं, मर्यादाओं व सम्बैधानिक संस्थाओं को दरकिनार कर नया काम करती है। केन्द्र सरकार द्वारा पेश किया बजट परम्पराओं के विपरित व साजिशी है। सरकार को जाने का समय है तो उस समय अन्तरिम बजट की जगह सलाना बजट पेश किया है। जिसमें संसाधनांे का कोई जिक्र नहीं है। यह बजट किसानों को ऊॅट के मुॅह में जीरा के समान है। बेरोजगारों को रोजगार सृजन के बारे में कोई प्रावधान नहीं दिखाई दे रहा है।
विधायक कल्पनाथ पासवान ने कहा कि इनकी सारी योजनाएं केवल ख्याली पुलाव है। इसकी असलियत जमीन पर कुछ नहीं है। असंगठित मजदूरों को पेंशन देने की बात अव्यहारिक है क्योंकि मजदूर कमाकर इतनी मॅहगाई में किसी तरह अपने परिवार का भरण पोषण करता है। किस तरह प्रत्येक महीनें 100 रूपये जमा कर पायेगा। फिर बाद में मिलेगा या नहीं मिलेगा। आम आदमी को मुफ्त शिक्षा व मुफ्त दवा के लिए बजट में कोई प्रावधान नहीं है। प्रधानमंत्री जी की जो योजनाएं प्रधानमंत्री आवास योजना, शौचालय योजना फ्लाप हुई है। उसी तरह इसका भी हश्र होगा।
बैठक में पूर्व मंत्री वसीम अहमद, पूर्व एम0एल0सी0 कमला प्रसाद यादव, अखिलेश यादव, जयराम सिंह पटेल, इसरार अहमद, लालमनि राजभर, दुर्गविजय राम, दामोदर प्रजापति, डा0हरिराम सिंह यादव, हरिश्चन्द्र यादव, वर्मन यादव, रामदरश यादव, अशोक यादव, रामआसरे चैहान, राजनरायन यादव, हंसराज यादव, मिर्जा मसूद बेग, जिला पंचायत सदस्य, शिवमूरत यादव, राजेश यादव, महेन्द्र यादव, तेजबहादुर यादव, शिवसागर यादव, वीरेन्द्र यादव, रामप्रवेश यादव, चन्द्रशेखर यादव, राजाराम सोनकर, बबिता चैहान, प्रेमा यादव, आशा यादव, सना परवीन, शशिकला सिंह, अजीत कुमार राव, सूरज राजभर, पप्पू यादव आदि उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment