.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ :पीएम सम्मान निधि' से लाभान्वित होंगे 5.82 लाख किसान

लेखपाल कर रहे हैं सत्यापन ,जनपद में युद्ध स्तर पर जारी है डाटा फीडिंग का कार्य 

आजमगढ़ : शासन के निर्देश पर 'प्रधानमंत्री सम्मान निधि' योजना के क्रियान्वयन को लेकर तहसील कर्मी और कृषि विभाग की गतिविधि तेज हो गई है। इस योजना से जिले के लगभग 5.82 लाख लघु व सीमांत किसान लाभान्वित होंगे। अभी तक कृषि विभाग से प्राप्त पंजीकृत किसानों की सूची के आधार पर लेखपाल सत्यापन कर रहे थे, लेकिन अब जिन पात्र किसानों के नाम सूची में नहीं हैं, उनके भी आधार कार्ड व बैंक पासबुक की छायाप्रति, खतौनी नकल की छायाप्रति और मोबाइल नंबर के साथ घोषणा पत्र भरवाए जा रहे हैं।शासनादेश के अनुपालन में किसानों को योजना का लाभ निर्धारित समय में दिलाने के लिए जिले की आठ तहसीलों में तीन-तीन कंप्यूटर लगाए गए हैं। सत्यापित किसानों की सूची की फीडिंग के लिए सिधारी स्थित जिला कृषि कार्यालय में 20 सेट कंप्यूटर स्थापित किए गए हैं जिस पर दो शिफ्टों में आपरेटर संबंधित डाटा की फीडिंग कर रहे हैं। अब तक सत्यापन के बाद तहसीलों से प्राप्त 14 हजार पात्र किसानों के नाम वेबसाइट पर अपलोड किए जा चुके हैं। जिनके पास ढाई एकड़ से कम जमीन है, उसके सीमांत और जिनके पास पांच एकड़ से कम जमीन है, उसे लघु किसान कहते हैं। इन्हीं किसानों को योजना का लाभ मिलेगा। लेखपालों द्वारा सत्यापन के समय पात्र किसानों को मोबाइल नंबर, बैंक पासबुक व आधार कार्ड (आधार कार्ड न रहने पर आधारकार्ड पंजीयन का नंबर) की छाया प्रति, भूमि संबंधी खतौनी की नकल को निर्धारित घोषणा पत्र भरकर देना होगा। उप कृषि निदेशक डा. आरके मौर्य ने बताया की सीमांत व लघु सीमांत की श्रेणी में आने वाले पंजीकृत किसानों के अलावा उन किसानों को भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ मिलेगा, जिनके पास दो हेक्टेयर से कम खेती की भूमि है। पंजीकृत व बिना पंजीकृत पात्र किसानों को निर्धारित घोषणा पत्र भरने के साथ ही उसके साथ अपने क्षेत्रीय लेखपाल को निर्धारित अभिलेख की छाया प्रति देनी होगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment