.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़:निःशुल्क होमियोपैथिक चिकित्सा शिविर में 500 से अधिक मरीजों का हुआ इलाज

आज स्वस्थ्य भारत की परिकल्पना बिना होमियोपैथी करना संभव ही नहीं है- डा. भक्तवत्सल

आजमगढ़: होमियोपैथिक मेडिकल एसोसिएशन आफ इंडिया जिला इकाई के तत्वावधान में हुसेनगंज तिराहा स्थित विश्वकर्मा काम्पलेक्स में निःशुल्क होमियोपैथिक चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। इसमें चिकित्सकों द्वारा 500 से अधिक मरीजों की जांच कर निःशुल्क दवा उपलब्ध करायी गयी।
कार्यक्रम का शुभारंभ होमियोपैथिक मेडिकल एसोसिएशन आफ इंडिया के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व केंद्रीय होमियोपैथिक सदस्य डा. भक्तवत्सल व लायंस क्लब के अध्यक्ष राकेश अग्रवाल ने सयुक्त रूप से होमियोपैथिक के जनक डा. हैनिमन के चित्र पर माल्यापर्ण व दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
उन्होंने कहा कि सरकार होमियोपैथिक के विकास के लिए अच्छा काम किया है लेकिन अभी इस क्षेत्र में और काम करने की जरूरत है। सरकार कालेजों में रिक्त पदों पर भर्ती करे साथ ही एनआरएचएम में होमियोपैथिक चिकित्सकों की न्युक्ति पर ध्यान दे। एनआरएचएम के तहत कार्यरत चिकित्सकों की जो समस्याएं है उसका समाधान किया जाय। उन्होंने होमियोपैथिक के विभिन्न वैज्ञानिक पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज पूरे विश्व में होमियोपैथिक से करोड़ों लोग लाभान्वित हो रहे हैं। आज के परिवेश में काफी लोगो का रूझान होमियोपैथी के प्रति बढ़ा है। अपनी गुणवत्ता के कारण आज होमियोपैथी भारत की दूसरे नंबर की सबसे ज्यादा लोकप्रिय चिकित्सा पद्धति है। आज स्वस्थ्य भारत की परिकल्पना बिना होमियोपैथी करना संभव ही नहीं है। एलोपैथ सहित जहां मेडिकल की सारी विधाएं फेल हो जाती है वहां भी होमियोपैथ मरीज को पूर्णरूप से रोगों के मुक्ति दिलाता है। होमियोपैथी अपनी गुणवत्ता पर समाज में लोकप्रिय होती जा रही है। इसलिए सरकार भी इनके विकास के लिए किये जा रहे प्रयास में तेजी लाए ताकि इस विधा से कम खर्च में मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल सके। केमिस्ट एंड मैनुफैक्चरर्स एसोशिएशन के अध्यक्ष डा. देवेश दुबे ने कहा कि इस तरह के निःशुल्क कैंप के आयोजन से सुदूर ग्रामीण इलाकों को बेहतर चिकित्सा सेवा उपलब्ध हो जाती है। होमियोपैथी पीड़ित मानवता की सेवा के लिए हमेशा तत्पर है। शिविर में लोगों की भारी भीड़ दिखी। इस दौरान चर्मरोग, उदर रोग, सूगर, अर्थराइटिस, पीलिया, नेत्र व दांत की बीमारियों से ग्रसित सर्वाधिक मरीज पाये गये। मरीजों के परीक्षण के बाद उन्हें निःशुल्क दवा उपलब्ध करायी गयी।
इस मौके पर डा. नित्यानंद दुबे, डा. राजेश तिवारी, डा. नीरज सिंह, डा. एसके राय, डा. नवीन कुमार दुबे, डा. नेहा दुबे, डा. रणधीर सिंह, डा. बी पांडेय, डा. प्रमोद गुप्ता, डा. अभिषेक राय, डा. अजय राय, डा. राजकुमार राय, डा. राजीव पांडेय, डा पूजा पांडये, डा. मनोज मिश्र, डा. प्रभात यादव, डा. एस सैनी, डा. अमित बरनवाल मो. अफजल आदि उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment