.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : भारत रक्षा दल ने भावपूर्ण ढंग से मनाई स्वामी विवेकानन्द की जयंती

आजमगढ़ : भारत रक्षा दल के तत्वावधान में शनिवार को वेदान्त के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरू स्वामी विवेकानन्द जी की 156वीं जयन्ती उनके विवेकानन्द चौराहा(चर्च चौराहा) स्थित प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा पूर्वक मनायी गयी। कार्यक्रम की अध्यक्षता संगठन के जिलाध्यक्ष उमेश सिंह ‘गुड्डू’ एवं संचालन निशीथ रंजन तिवारी ने किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए भारत रक्षा दल के प्रदेष उपाध्यक्ष हरिकेश विक्रम श्रीवास्तव ने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी को स्वामी विवेकानन्द जी के विचारों और कर्मो से प्रेरणा लेनी चाहिए। स्वामी विवेकानन्द जी का वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था। उन्होनें अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विष्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था। अध्यक्षता करते हुए जिलाध्यक्ष उमेश सिंह ‘गुड्डू’ ने बताया कि भारत का आध्यात्मिकता से परिपूर्ण वेदान्त दर्शन अमेरिका और यूरोप के हर एक देष में स्वामी विवेकानन्द जी की वक्तृता के कारण ही पहुंचा। उन्होनें रामकृष्ण मिशन की स्थापना की थी जो आज भी अपना काम कर रहा है। वे स्वामी रामकृष्ण परमहंस के सुयोग्य षिष्य थे। उन्हें प्रमुख रूप से उनके भाषण की षुरूआत ‘मेरे अमेरिकी भाईयों एवं बहनों’ के साथ करने के लिए जाना जाता है। उनके इस सम्बोधन के प्रथम वाक्य ने सबका दिल जीत लिया था।
कार्यक्रम का संचालन करते हुए निषीथ रंजन तिवारी ने बताया कि उन्तालिस वर्ष के संक्षिप्त जीवनकाल में स्वामी विवेकानन्द जी जो काम कर गये वे आने वाली अनेक षताब्दियों तक पीढ़ियों का मार्गदर्षन करते रहेंगे। तीस वर्ष की आयु में स्वामी विवेकानन्द ने षिकागो, अमेरिका के विष्व धर्म सम्मेलन में हिन्दू धर्म का प्रतिनिधित्व किया और उसे सार्वभौमिक पहचान दिलवायी। गुरूदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर ने एक बार कहा था कि- ‘‘ यदि आप भारत को जानना चाहते है तो विवेकानन्द पढ़िये। उनमें आप सब कुछ सकारात्मक ही पायेंगे, नकारात्मक कुछ भी नहीं।’’ इस अवसर पर प्रमुख रूप से जावेद अंसारी, मोहम्मद अफजल, मनीष कृष्ण साहिल, सुनील वर्मा, आशीष मिश्रा, केशव प्रसाद सोनू, गोपाल प्रसाद, राजकिशोर सिंह, विनय अग्रवाल, अजीत विश्वकर्मा, सूरज विश्वकर्मा, विपुल विश्वकर्मा, रवि विश्वकर्मा, राकेश यादव, शुभम प्रजापति, गोपाल दादा, रविप्रकाश, चंदन गुप्ता, राजन अस्थाना, अजय विश्वकर्मा, रामजनम निषाद, पंकज यादव, संतोष आदि प्रमुख लोग उपस्थित रहे। इस अवसर पर भारत रक्षा दल द्वारा विगत 23 सितम्बर से जनसेवा में अनवरत संचालित बी.आर.डी. कैन्टीन को चर्च के सामने स्वामी विवेकानन्द जी के प्रतिमा स्थल के समीप संचालित किया गया जिसमें स्वामी जी की स्मृति में सैकड़ो लोगों को निषुल्क भोजन व लड्डू खिलाया गया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment